मुंबई. प्रभावी लोकपाल विधेयक की मांग पर अपना अनशन समाप्त करने के दूसरे दिन गुरुवार को सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे अपने गांव रालेगण सिद्धि के लिए रवाना हो गए है.अन्ना ने बुधवार को अपने खराब स्वास्थ्य के कारण प्रभावी लोकपाल विधेयक की मांग पर शुरू किया गया अनशन बीच में ही समाप्त कर दिया.

उनके बिगड़ते स्वास्थ्य को देखते हुए टीम अन्ना के सदस्यों व उनके गांव के सहयोगियों ने उनसे अनशन समाप्त करने की अपील की थी. गौरतलब है कि मंगलवार को लोकसभा में लोकपाल विधेयक पारित हो गया था. अन्ना इलाज व स्वास्थ्य लाभ लेने के बाद सरकारी विधेयक को पारित कराने की कार्यवाही के विरोध में आगे की रणनीति तय करेगे. उनके वायरल बुखार से स्वस्थ हो जाने के बाद टीम अन्ना के सदस्य अगले कुछ दिनों में अहमदनगर जिले के पारनर तालुका स्थित रालेगण सिद्धि गांव में मुलाकात करेगे. इंडिया अगेंस्ट करप्शन [आईएसी] के सूत्रों ने बताया कि इस बैठक के बाद ही आगे की रणनीति पर चर्चा होगी. अन्ना ने एक दिन पहले ही अपना तीन दिवसीय अनशन बीच में ही समाप्त कर दिया लेकिन उन्होंने अगले साल पांच राज्यों में होने जा रहे विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को आड़े हाथों लेने की बात कही. उन्होंने मंगलवार को एमएमआरडीए मैदान में अनशन शुरू किया था. अन्ना ने जेल भरो आंदोलन की भी घोषणा की थी, जो शुक्रवार से शुरू होना था लेकिन फिलहाल इस घोषणा को वापस ले लिया गया है. इस बीच अन्ना के सहयोगी अरविंद केजरीवाल ने कहा है कि टीम अन्ना पीछे नहीं हट रही है और जल्दी ही अपनी आगे की रणनीति तैयार करेगी.

Related Posts: