नई दिल्ली, 5 सितंबर. भारतीय क्रिकेट टीम के उभरते सितारे विराट कोहली ने युवा क्रिकेटरों को अपने काम के प्रति ईमानदारी बरतने और पूरी लगन से मेहनत करने की सलाह दी.

कोहली ने एसडी पब्लिक स्कूल कीर्तिनगर में वेस्ट दिल्ली क्रिकेट अकादमी की नई शाखा का उद्घाटन करते हुए कहा कि आप क्रिकेट खेलों या कोई दूसरा काम करो, आपको उसमें पूरी ईमानदारी बरतनी होगी. ईमानदारी और कड़ी मेहनत से ही आप कामयाब हो सकते हैं. शिक्षक दिवस होने के कारण कोहली युवा क्रिकेटरों को अपने गुरुओं और प्रशिक्षकों का सम्मान करने की सलाह देना भी नहीं भूले. उन्होंने इससे पहले स्वयं अपने कोच राजकुमार शर्मा का आभार व्यक्त किया जो अकादमी के निदेशक भी हैं. इस मौके पर पूर्व टेस्ट सलामी बल्लेबाज चेतन चौहान ने कहा कि कोहली जैसे युवा क्रिकेटरों की मौजूदगी में भारतीय क्रिकेट का भविष्य सुरक्षित है. उन्होंने कहा कि पिछले दो मैचों में हम काफी हद तक नई टीम के साथ उतरे थे. सभी की नजरें युवा खिलाडिय़ों पर थी जो पहली परीक्षा में खरे उतरे लेकिन असली परीक्षा आगे होगी. कोहली की झलक पाने के लिए पूरा हुजूम उमडऩे के कारण कार्यक्रम में अफरातफरी का माहौल भी रहा.

फैसला सचिन को लेने दें

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के न्यूजीलैंड के खिलाफ दो मैचों की टेस्ट सीरीज में अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं करने पर उठे आलोचनाओं के स्वर के बीच दुनिया के महान तेज गेंदबाजों में से एक और एमआरएफ पेस फाउंडेशन के नए निदेशक ऑस्ट्रेलियया के ग्लेन मैकग्रा ने कहा है कि क्रिकेट से संन्यास लेने का निर्णय सचिन पर ही छोड़ देना चाहिए. मैकग्रा ने कहा कि सचिन जानते हैं कि उन्हें कब अपने खेल से संन्यास लेना है. उन्होंने कहा कि एक बल्लेबाज के रूप में वह जानते हैं कि उन्हें किस दिशा में अपने खेल में सुधार करने की जरूरत है. वह जरूरत पडऩे पर इसमें सुधार कर लेंगे. मुझे लगता है कि सचिन को खेल से संन्यास लेने का निर्णय उन्ही पर छोड़ देना चाहिए.

गौरतलब है कि न्यूजीलैंड के खिलाफ दो टेस्ट मैचों की तीन पारियों में लगातार क्लीन बोल्ड होने पर पूर्व भारतीय खिलाड़ी सुनील गावस्कर और संजय मांजरेकर ने सचिन के फुट वर्क पर सवाल उठाते हुए उनके प्रदर्शन पर उम्र के हावी होने का हवाला दिया था. हालांकि दुनिया के महान खिलाडिय़ों में से एक सचिन की आलोचना का भी कई खिलाडिय़ों ने विरोध किया था. ऐसे में पूर्व ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी भी अब मास्टर ब्लास्टर के बचाव में उतर आए हैं.

zp8497586rq

Related Posts:

प्रदेश भर में 9 जून से 15 जून तक स्कूल चलो अभियान
देहरादून-वाराणसी जनता एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त: 30 मृत,150 से ज्यादा घायल
चैंपियन बनते ही पेनेटा ने टेनिस को कहा अलविदा
पहले कार्यकाल के बाद आरबीआई गवर्नर पद छोड़ेंगे राजन
पाकिस्तान में अदालत के बाहर आत्मघाती विस्फोट में 12 मरे, 52 घायल
विवाह बंधन में महिलाओं को मिले बराबर अधिकार : मेनका