मल्टी स्टारर फि़ल्मों से सफ़ लता का स्वाद चखने वाले फिल्म अभिनेता तुषार कपूर की दिली चाहत है कि वह सोलो हीरो वाली भूमिका अदा करे. उन्हें लगता है कि ऐसा करके वह अपनी क्षमता का प्रदर्शन कर सकते हैं और स्टार बन सकते हैं.

तुषार ने कहा कि मैं सोलो फिल्मों में काम करना चाहता हूं. अगर आप सोलो हिट नहीं देते हैं तो इस इंडस्ट्री में यह महत्व नहीं रखता है कि आप कितना लोकप्रिय हैं. यह स्टार होने का सबूत नहीं है. आपको इस इंड्रस्टी के लिए साबित करना है. तुषार ने वर्ष 2001 में सतीश कौशिक द्वारा निर्देशित की गयी फि़ल्म मुझे कुछ कहना है, से बॉलीवुड में अपने कैरियर की शुरूआत की थी. इस फि़ल्म की सफ़लता के बाद तुषार की कोई दूसरी सोलो फिल्म कोई अधिक सफलता हासिल नहीं कर सकी. उनकी अगली फिल्म करीना कपूर के साथ वासु भगनानी की जीना सिर्फ मेरे लिए 2002 आयी थी. यह फिल्म बॉक्स ऑफिस पर पिट गयी. इसके बाद तुषार ने अपनी बहन एकता कपूर की फि़ ल्म कुछ तो है, में ईशा देओल के साथ काम किया जो  असफ़ल साबित हुयी. वर्ष 2003 में तुषार की अनिता हसनंदानी के साथ आयी फिल्म ये दिल बॉक्स ऑफि़स पर साल की सबसे असफ़ल फिल्म साबित हुयी.

Related Posts: