भोपाल, 21 नवंबर, नभासं. जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल समाप्त होने के बाद सोमवार को हमीदिया अस्पताल सहित जेपी अस्पताल में मरीजों की भीड़ बढ़ गई. साथ ही दलालों की चांदी हुई.

ये दलाल रुपये लेकर मरीजों को पर्ची से लेकर एक्स-रे इत्यादि कार्यों को सरकारी अस्पताल में सहजता से अंजाम देते हैं. ऐसा होने से आम मरीजों को हड़ताल समाप्त होने के बाद भी इलाज के लिये काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. यहां दलालों की नजर बाहर से आने वाले मरीजों को खोजती रहती हैं. दलालों द्वारा मरीजों से 200 और 500 रुपये वसूल किये जाते हैं. इसके एवज में दलालों द्वारा मरीजों को इलाज में सहयोग करने का अश्वासन दिया जाता है. इनका रौब इतना होता है कि इन्हें देखकर सभी जगह काम बिना लाइन एवं नंबर के हो जाता है. इधर मेडिकल प्रशासन इन दलालों की दखलंदाजी कृत्य होने की बात स्वीकार करता है. अभी तक दलालों को पकडऩे के प्रभावी कदम नहीं उठाये गये हैं. इस बात को लेकर अब तरह-तरह की अटकलें लगना भी शुरू हो गई हैं.

Related Posts:

सीबीएसई 10वीं बोर्ड में लड़कियां अव्वल
धूमधाम से मनाया गया श्री कृष्ण जन्माष्टमी का पर्व
कलमा पढ़ते हुए भरी उड़ान
मुख्यमंत्री चौहान से राष्ट्रीय बालश्री सम्मान से पुरस्कृत बच्चों ने की मुलाकात
सरेराह अपहरण के प्रयास का मामला : चौकड़ी हुई गिरफ्तार, भेजी गई जेल
व्यापमं मामले में डॉ. वीरेंद्र मोहन को भेजा जेलव्यापमं मामले में डॉ. वीरेंद्र मो...