भोपाल,11 अप्रैल,नभासं.विद्युत नियामक आयोग द्वारा तय की गई नई दरें 10 अप्रैल से लागू होने के बाद मंगलवार से प्रदेश में बिजली महंगी हो गई.जिससे 25 अप्रैल के बाद आने वाला बिजली बिल इन्हीं दरों पर आधारित होगा. मप्र विद्युत नियामक आयोग ने 31 मार्च को बिजली दरों में इजाफे का एलान किया था. उसी के मुताबिक नई दरें मंगलवार से लागू हो गई हैं.

विद्युत नियामक आयोग द्वारा तय की गई नई दरों के मुताबिक घरेलू उपभोक्ताओं को 50 यूनिट तक का उपयोग करने पर तीन रुपये 40 पैसे की दर से भुगतान करना होगा. अभी तक यह इस श्रेणी के उपभोक्ता तीन रुपये 30 पैसे की दर से भुगतान करते थे. इसी तरह 51 से 100 यूनिट तक का उपयोग करने पर उपभोक्ता को तीन रुपये 85 पैसे प्रति यूनिट का भुगतान करना होगा. इस श्रेणी में 10 पैसा प्रति यूनिट का इजाफा हुआ है. इसी तरह 101 से 300 यूनिट का उपयोग करने पर चार रुपये 80 पैसे प्रति यूनिट की दर तय की गई है. 101 से 200 यूनिट के स्लेब खत्म कर दिया गया है.

नई दरों के मुताबिक 301 से 500 यूनिट पर पांच रुपये 20 पैसे प्रति यूनिट की दर से बिल की वसूली की जाएगी. इसके अलावा 501 से ज्यादा यूनिट बिजली खर्च करने वालों को पांच रुपये 55 पैसे की दर से भुगतान करना होगा. नई दरें लागू होने से 100 यूनिट तक की बिजली का उपयोग करने वालों पर 21 रुपये, 200 तक 78 रुपये और 500 यूनिट तक की बिजली का उपयोग करने वालों पर 195 रुपए प्रतिमाह का अतिरिक्त भार आएगा.  विद्युत नियामक आयोग ने किसानों की बिजली दर में भी इजाफा किया है. मगर राज्य सरकार ने इस बोझ का वहन करने का एलान करके किसानों को राहत दी है. राज्य का मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस बीते रोज ही बिजली दरों में हुई बढ़ोत्तरी के खिलाफ राज्यव्यापी प्रदर्शन कर चुका है.

Related Posts: