कोलंबो, 30 सितंबर. भारत के खिलाफ द्विपक्षीय सीरीज शुरू होने का इंतजार कर रहे पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अध्यक्ष जका अशरफ ने कहा कि पीसीबी चिर प्रतिद्वंद्वी भारत और अन्य देशों के खिलाफ होने वाले मैचों में इस्तेमाल होने वाली सुविधाओं का खर्चा उठाने को भी तैयार है.

वर्ष 2008 में मुंबई आतंकी हमने के बाद से भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट संबंध टूटे हुए हैं लेकिन दिसंबर में एकदिवसीय और टी20 मैचों की सीरीज के साथ इसकी दोबारा शुरुआत होगी. अशरफ ने कहा कि पीसीबी इस तरह की सीरीजों के आयोजन का खर्चा उठाने को भी तैयार है.

अशरफ ने कहा कि मैंने हमेशा से कहा है कि द्विपक्षीय सीरीज का शुरू होना सही दिशा में उठाया गया कदम है. बीसीसीआई अध्यक्ष एन श्रीनिवासन के साथ मेरे रिश्ते सौहार्दपूर्ण रहे हैं. मैंने उनसे कहा है कि हम भारत से दुनिया में कहीं भी खेलने का तैयार हैं, तटस्थ स्थान पर भी. उन्होंने कहा कि भारत और अन्य देशों के खिलाफ अधिक मैचों के लिए हम सुविधाओं का किराया भी दे सकते हैं. भारत बनाम पाकिस्तान सीरीज आर्थिक रूप से काफी अहम होती है. दोनों देशों में जिस तरह के जुनूनी क्रिकेट प्रशंसक हैं, उससे जब भी दोनों देश एक-दूसरे के खिलाफ खेलते हैं दो दर्शकों की संख्या दोगुनी हो जाती है. अशरफ ने भारत के खिलाफ होने वाले मैच के बारे में कहा कि पाकिस्तान के दक्षिण अफ्रीका को हराने के बाद मुझे सूचित किया गया कि एक घंटे के अंदर मैच के सारे टिकट बिक गए.

यह मेरी बात को सही साबित करता है. पीसीबी अध्यक्ष ने विशेष कदम उठाने के लिए भारतीय विदेश मंत्री एसएम कृष्णा का भी धन्यवाद दिया जिससे कि दिसंबर में होने वाली सीरीज के लिए पाकिस्तान के दर्शक बड़ी संख्या में भारत पहुंच सकें. उन्होंने कहा कि सीरीज की घोषणा होने के बाद से दोनों देशों की सरकारें एक साथ मिलकर काम कर रही है और प्रत्येक बिंदू पर गहनता के साथ काम किया जा रहा है. पाकिस्तानी खिलाडिय़ों के आईपीएल में खेलने के बारे में पूछने पर, वह हंसे और फिर कहा कि अगर द्विपक्षीय सीरीज हो रही है तो क्या आईपीएल काफी पीछे है. उन्होंने कहा कि यह बहुत छोटा मुद्दा है जिसका हल निकाल लिया जाएगा. वह दिन दूर नहीं जब आपको आईपीएल में पाकिस्तानी खिलाड़ी खेलते हुए नजर आएंगे और साथ ही भारतीय खिलाड़ी पाकिस्तान प्रीमियर लीग में खेलेंगे.

Related Posts: