केंद्रीय गृहसचिव और खुफिया एजेंसी प्रमुख पहुंचे इस्लामाबाद

नई दिल्ली, 24 मई. पाक समर्थित आतंकवाद पर सीधी और दो-टूक बात करने के लिए केंद्रीय गृह सचिव आरके सिंह खुफिया और जांच एजेंसियों के शीर्ष अधिकारियों के साथ इस्लामाबाद पहुंच गए हैं।

दोनों देशों के गृह सचिव आतंकवाद से जुड़े मुद्दों पर बातचीत के साथ नए वीजा समझौते पर भी हस्ताक्षर करेंगे। दो दिन चलने वाली इस वार्ता के दौरान पाकिस्तान को आतंकी शिविरों के सुबूत सौंपे जाएंगे। ध्यान देने की बात है कि गृह सचिव स्तर की बातचीत में पहली बार खुफिया ब्यूरो [आइबी] और राष्ट्रीय जांच एजेंसी [एनआइए] प्रमुख को शामिल किया गया है।
पहले 12 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल में सीबीआइ निदेशक को भी प्रतिनिधिमंडल में शामिल होना था, लेकिन व्यवस्तता के कारण अंतिम समय में उनकी जगह पर एजेंसी के संयुक्त निदेशक को शामिल किया गया। बातचीत के दौरान आइबी निदेशक निहचल संधू जहां पाकिस्तान में चल रहे भारत विरोधी आतंकी शिविरों के बारे में पुख्ता सबूत देंगे।

एनआइए निदेशक एससी सिन्हा 2008 के मुंबई हमले में लश्कर-ए-तैयबा प्रमुख हाफिज सईद समेत अन्य आरोपियों के खिलाफ जुटाए गए सुबूत पेश करेंगे। इन सुबूतों के आधार पर भारत आतंकी शिवरों को बंद करने और मुंबई हमले के आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेगा। बातचीत के एजेंडे में आतंकवाद के साथ-साथ अंडरवर्ल्ड माफिया डान दाऊद इब्राहिम जैसे मोस्टवांटेड अपराधियों, नकली भारतीय नोट और पाक की जेलों में कैद भारतीय नागरिकों जैसे मुद्दे भी शामिल हैं।  दोनों पक्ष नए वीजा समझौते पर भी हस्ताक्षर करेंगे। नया वीजा समझौता लागू होने के बाद दोनों देशों के बीच व्यापार को बढ़ावा मिलने की उम्मीद है।

Related Posts: