कोटला में केवल एक बार भिड़े हैं भारत-पाक

India vs Pakistanनई दिल्ली 4 जनवरी. पहले दो मैच में हार के बाद सीरीज़ गंवा चुका भारत अब फिरोजशाह कोटला के उस मैदान पर छह जनवरी को प्रतिष्ठा बचाने के लिये उतरेगा जहां उसने अभी तक पाकिस्तान के खिलाफ केवल एक ओडीआई मैच खेला है.

पाकिस्तान ने तीन वनडे मैचों की सीरीज़ में अभी 2-0 की अजेय बढ़त हासिल कर रखी है और उसकी निगाह ईडन गार्डन्स की तरह कोटला में भी अपना विजय अभियान जारी रखकर क्लीन स्वीप करने पर लगी हैं. भारत और पाकिस्तान के बीच फिरोजशाह कोटला में एकमात्र वनडे मैच 17 अप्रैल 2005 को खेला गया था. उस मैच में भारतीय बल्लेबाजों ने निराशाजनक प्रदर्शन किया और पाकिस्तान ने इसका फायदा उठाकर 159 रन से जीत दर्ज की थी. संयोग से वर्तमान सीरीज़ में भी भारतीय बल्लेबाज अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं. सात साल पहले छह मैचों की सीरीज़ का आखिरी मैच कोटला में खेला गया था.

पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए आठ विकेट पर 303 रन बनाये और फिर भारत को केवल 37 ओवर में 144 रन पर समेट दिया था. इस जीत से भारत का सीरीज़ बराबर करने का सपना चकनाचूर हो गया था और इंजमाम उल हक की अगुवाई वाली पाकिस्तानी टीम 4-2 से जीत दर्ज करने में सफल रही थी. तब राहुल द्रविड़ भारत के कप्तान थे. महेंद्र सिंह धौनी की टीम हालांकि कोटला में भारत के टेस्ट रिकॉर्ड से प्रेरणा लेने की कोशिश करेगी. भारत ने इस मैदान पर पाकिस्तान के खिलाफ पांच टेस्ट मैच खेले हैं जिनमें से तीन में उसने जीत दर्ज की है जबकि बाकी दो ड्रॉ रहे. भारत ने पाकिस्तान को 1952 में पारी और 70 रन, 1999 में 212 रन और 2007 में छह विकेट से हराया था.

वनडे में भी भारत का कोटला में ओवरऑल रिकॉर्ड अच्छा रहा है. यहां उसने अभी तक 15 मैच खेले हैं और इनमें से उसे दस में जीत और पांच में हार मिली है. पाकिस्तान के खिलाफ 2005 में मिली हार के बाद भारतीय टीम ने कोटला में कोई भी वनडे मैच नहीं गंवाया है. भारत ने इसके बाद 2006 में इंग्लैंड को 39 रन से, 2009 में ऑस्ट्रेलिया को छह विकेट से तथा 2011 में हॉलैंड को पांच विकेट और इंग्लैंड को आठ विकेट से हराया. इस बीच 27 दिसंबर 2009 को श्रीलंका के खिलाफ मैच पिच खतरनाक होने के कारण बीच में रद्द करना पड़ा था.

Related Posts: