नई दिल्ली, 11 सितंबर. इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) घोटाले को लेकर बवाल, इंग्लैंड में भारतीय टीम कि मिट्टी पलीद और स्पोर्ट्स बिल को लेकर सरकार से नुराकुस्ती. पवार पावर के बाद क्या अब श्रीनिवासन की तूती बोलेगी. मुंबई में 19 तारीख को श्रीनिवासन के अध्यक्ष बनते ही दुनिया के सबसे अमीर क्रिकेट बोर्ड में एक नए युग की शुरूआत हो जाएगी. सवाल ये है कि क्या एन श्रीनिवासन की टीम नई चुनौतियों के लिए तैयार है.

बीसीसीआई के नए अध्यक्ष चुनौतियों पर कितना खरा उतरेंगे ये तो वक्त बताएगा, लेकिन फिलहाल उनकी नई टीम की रुप रेखा लगभग तैयार है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक टीम पर तो मुहर 19 सितम्बर को मुंबई में बीसीसीआई की एजीएम में लगेगा लेकिन बीसीसीआई के मौजूदा उपाध्यक्ष राजीव शुक्ला का आईपीएल का नया चैयरमैन बनना तय है. केंद्रीय मंत्री शुक्ला मौजूदा चेयरमैन चिरायु अमीन की जगह लेंगे. फ्रेंचायजी से बेहतर रिश्ते और सरकार में पहुंच की वजह से शुक्ला को ये मौका मिला है.

विश्व कप विजेता टीम के मैनेजर रंजीब बिस्वाल बीसीसीआई के नए सचिव होंगे. वो मौजूदा सचिव श्रीनिवासन की जगह लेंगे. कोषाध्यक्ष पद के लिए निरंजन शाह और अजय शिर्के के बीच सीधी टक्कर है, लेकिन सूत्रों की मानें तो महाराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन के शिर्के दौड़ में आगे हैं.

इंग्लैंड में फिसड्डी प्रदर्शन के बावजूद के श्रीकांत चयन समिति के मुखिया बने रहेंगे. सूत्रों की मानें तो यशपाल शर्मा के अलावा चयन समिति के बाकी सदस्य बने रहेंगे. भारतीय टीम के पूर्व कप्तान के श्रीकांत के अलावा उत्तर जोन से विक्रम राठौर, पूर्व जोन से ई आर वेंकेटरमण, पश्चिम जोन से सुरेंद्र भावे और मध्य जोन से नरेंद्र हिरवानी इस कमेटी के सदस्य होंगे.

इसके अलावा बीसीसीआई के मौजूदा उपाध्यक्षों की टीम में भी अधिक बदलाव होने के संकेत नहीं हैं. उपाध्यक्षों की सूची में उत्तर जोन से अरुण जेटली, पश्चिमी जोन से निरंजन शाह, दक्षिण जोन से शिवलाल यादव, सेंट्रल जोन से ज्योतिरादित्य सिंधिया, जगमोहन डालमिया के करीबी चित्रक मित्रा पूर्वी जोन से होंगे. जाहिर तौर पर बीसीसीआई के अगले अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने अपनी पकड़ को देखते हुए टीम में बहुत अधिक बदलाव नहीं किया है लेकिन सबसे अहम सवाल ये है कि क्या उनकी टीम भारतीय क्रिकेट की दिशा और दशा में किसी तरह का बदलाव करने में कामयाब होगी.

Related Posts: