वाशिंगटन, 8 जून. अमेरिका में भारत से अच्छा खास पूंजी निवेश हो रहा है और इससे इस देश में हजारों लोगों का रोजगार चल रहा है. अमेरिका के सहायक विदेश मंत्री रॉबर्ट ब्लैक ने देश के मुश्किल आर्थिक दौर में रोजगार पैदा करने में भारतीय पूंजी के योगदान की यह बात स्वीकार की है.

ब्लैक ने एक प्रतिष्ठित संस्थान में कहा, हाल के वर्षों में भारत अमेरिका में सबसे तेजी से निवेश करने वालों स्रोतों में रहा है. वहां से 2010 में 3.3 अरब डॉलर का कुल निवेश हुआ जिससे हजारों नए रोजगार के मौके पैदा हुए.” 2010 के दौरान अमेरिका से भारत में होने वाला प्रत्यक्ष विदेशी निवेश बढ़कर 27 अरब डॉलर हो गया.

ब्लैक ने कहा कि हाल के दिनों में दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय कारोबार और निवेश तेजी से बढ़ा है और यह विषय अगले महीने वाशिंगटन में होने वाली भारत-अमेरिका रणनीतिक वार्ता के दौरान चर्चा के प्रमुख मुद्दों में शामिल होगा. दरअसल, दोनों देशों के बीच संबंधों में दोनों ओर की कंपनियों की उल्लेखनीय भूमिका को सम्मान देने के लिए रणनीतिक वार्ता की पूर्व संध्या पर 12 जून को अमेरिकी विदेशी मंत्री हिलेरी क्लिंटन और भारत के विदेशी मंत्री एसएम कृष्णा अमेरिका-भारत व्यापार परिषद की सालाना बैठक को संबोधित करेंगे. ब्लैक ने कहा कि अमेरिकी कंपनियों के लिए भारत में बड़े अवसर उपलब्ध हैं.

Related Posts: