भारत-आस्ट्रेलिया दूसरे टेस्ट मैच में कंगारू पड़ रहे भारी

सिडनी, 5 जनवरी. पहला टेस्ट मैच गंवा सीरीज में 0-1 से पिछड़ रही टीम इंडिया सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) पर लगातार दूसरी हार टालने में जुटी हुई है. कंगारू कप्तान माइकल क्लार्क (नाबाद 329) और माइक हसी (नाबाद 150) ने मिलकर मैच पर पूरी तरह शिकंजा कसते हुए चार विकेट पर 659 रनों पर पारी घोषित की.

जवाब में संघर्ष करती हुई भारतीय टीम ने 114 रनों तक दो विकेट गंवा दिए हैं. तीसरे दिन का खेल खत्म होने पर गौतम गंभीर 68 और सचिन तेंदुलकर 8 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद हैं. आस्ट्रेलिया से पहली पारी में 468 रन से पिछडऩे के बाद भारत दूसरी पारी में वीरेंद्र सहवाग (4) और राहुल द्रविड़ (29) का विकेट गंवाकर संकट में दिखाई दे रहा है. टीम इंडिया अब भी 354 रन से पिछड़ रही है जबकि उसके आठ विकेट शेष हैं. दूसरी पारी में भी भारत की शुरुआत काफी खराब रही और उसने चौथे ओवर में 18 रन के स्कोर पर ही सहवाग का विकेट गंवा दिया जो बेन हिलफेनहास की गेंद पर प्वाइंट पर डेविड वार्नर के हाथों लपके गए. इसके बाद द्रविड़ और गंभीर ने संभलकर खेलते हुए पारी को आगे बढ़ाया. भारत की दीवार माने जाने वाले द्रविड़ 29 रन बनाकर अपनी एकाग्रता खो बैठे और हिलफेनहास की गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए. सीरीज में खराब फार्म से जूझ रहे गंभीर शानदार लय में दिखे. उन्होंने पहले ओवर में ही जेम्स पेटिंसन पर लगातार दो चौके जड़े जबकि पीटर सिडल पर भी लगातार दो चौके मारे. उन्होंने स्पिनर नाथन ल्योन की चाय से पूर्व की अंतिम दो गेंदों को भी बाउंड्री के दर्शन कराए. गंभीर ने 54 गेंदों पर आठ चौकों की मदद से पचासा ठोका. हालांकि द्रविड़ के पवेलियन लौटने के बाद गंभीर और सचिन काफी रक्षात्मक होकर खेले, इसका अंदाजा इस बाद से ही लगाया जा सकता है कि दोनों ने लगातार सात ओवर मेडन खेले. तीसरे दिन के आखिरी ओवर तक दोनों खिलाड़ी क्रीज पर डटे रहे और भारत को तीसरा झटका नहीं लगने दिया. इससे पहले आस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्क टेस्ट मैचों में तिहरा शतक जडऩे वाले आस्ट्रेलिया के तीसरे बल्लेबाज बने. उन्होंने नाबाद 329 रन की पारी खेली और हसी के साथ 334 रन की अटूट साझेदारी की.

दोनों ने टीम का स्कोर चार विकेट पर 659 रन तक पहुंचाया जिसके बाद क्लार्क ने पारी समाप्त करने की घोषणा की. इससे पहले भारत ने पहली पारी में 191 रन बनाए थे. क्लार्क ने अपनी पारी में दौरान 617 मिनट बल्लेबाजी की और 468 गेंद का सामना करते हुए 39 चौके और एक छक्का मारा. हसी ने 253 गेंद का सामना करते हुए 16 चौके और एक छक्का जड़ा. क्लार्क की 329 रन की पारी टेस्ट क्रिकेट में मैथ्यू हेडन (380), सर डान ब्रेडमैन (334) और मार्क टेलर (334) के बाद आस्ट्रेलिया की ओर से चौथा सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत स्कोर है. यह 25वां मौका है जब टेस्ट क्रिकेट में तिहरा शतक जड़ा गया. ब्रेडमैन, ब्रायन लारा, सहवाग और क्रिस गेल यह कारनामा दो-दो बार कर चुके हैं. ऐसा मौका 95 टेस्ट बाद आया है जब किसी आस्ट्रेलियाई ने तिहरा शतक जड़ा हो. इससे पहले हेडन ने वाका में 2003 में पर्थ में 380 रन बनाए थे. इससे पहले आज 251 रन से आगे खेलने उतरे क्लार्क लंच से ठीक पहले ईशांत शर्मा की गेंद पर कवर्स में चौका जड़कर एससीजी के इतिहास में सर्वश्रेष्ठ पारी खेलने वाले बल्लेबाज बने. उन्होंने 1903-04 में इंग्लैंड के रेगिनोल्ड फास्टर के 287 रन के रिकार्ड को पीछे छोड़ा. सुबह आस्ट्रेलिया के बल्लेबाजों ने धीमी शुरुआत की और पहले घंटे के खेल में केवल 37 रन बने लेकिन इसके बावजूद टीम पहले घंटे में ही 500 रन के स्कोर को पार करने में सफल रही.

टीम ने इससे पहले यह उपलब्धि लगभग 18 महीने और 17 टेस्ट पहले न्यूजीलैंड के खिलाफ मार्च 2010 में हासिल की थी. सुबह क्लार्क ने अपने स्कोर में छह रन जोड़ते ही भारत के खिलाफ आस्ट्रेलिया की ओर से सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत स्कोर बनाया. उन्होंने रिकी पोंटिंग को पीछे छोड़ा जिन्होंने मेलबर्न में 2003-04 में 257 रन बनाए थे. हसी ने इसके बाद उमेश यादव की गेंद को कट करके बाउंड्री तक पहुंचाकर 307 गेंद में 200 रन की साझेदारी पूरी की. दोनों ने सुबह सुबह 32 ओवर में 101 रन जोड़े जबकि भारतीय गेंदबाजों को कल पहले सत्र की तरह आज भी बैरंग लौटना पड़ा. भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने लंच से आधा घंटा पहले वीरेंद्र सहवाग को गेंद सौंपकर आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों की राह और आसान कर दी. हसी ने सहवाग की गेंद आफ साइड में एक रन के लिए खेलकर 68वें टेस्ट में 16वां शतक पूरा किया. उन्होंने 188 गेंद में यह उपलब्धि हासिल की. क्लार्क लंच के बाद पहले ओवर में ही ईशांत की गेंद को चार रन के लिए भेजकर तिहरे शतक से एक रन दूर पहुंचे जबकि इसी तेज गेंदबाज के अगले ओवर में फ्लिक से चार रन बटोकर उन्होंने यह उपलब्धि हासिल की और आस्ट्रेलिया का स्कोर 600 रन के पार भी पहुंचाया. हसी ने भी कुछ देर बाद सहवाग की गेंद पर दो रन के साथ अपने 150 रन पूरे किए जिसके बाद क्लार्क ने पारी घोषित कर दी.

कोहली ने गंवाई आधी मैच फीस

सिडनी. भारत के मध्यक्रम के बल्लेबाज विराट कोहली पर सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर दूसरे क्रिकेट टेस्ट के दूसरे दिन के खेल के दौरान दर्शकों को बीच की अंगुली दिखाने के लिए मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना लगाया गया है. दर्शकों की हूटिंग और गालियों से परेशान होकर कोहली ने ये हरकत की. टीम के मीडिया मैनेजर जीएस वालिया ने कहा कि टीम के मैनेजर शिवलाल यादव के साथ कोहली को मैच रेफरी रंजन मदुगुले ने आज सुबह तलब किया. खिलाड़ी ने अपना दोष स्वीकार किया और अपनी गलती मान ली. यह मुद्दा अब खत्म हो गया है. कोहली को तस्वीरों में भारत के क्षेत्ररक्षण के दौरान दर्शकों को बीच की अंगुली दिखाते हुए दिखाया गया था.

यह लेवल दो का अपराध है जो आईसीसी की आचार संहिता के उस नियम का उल्लंघन है जो, अंतरराष्ट्रीय मैच के दौरान किसी अन्य खिलाड़ी, खिलाड़ी के सहायक स्टाफ, अंपायर, मैच रेफरी या किसी अन्य व्यक्ति के खिलाफ ऐसी भाषा या इशारे का इस्तेमाल करने से संबंधित है जो अश्लील, आक्रामक और अपमानजनक हो. इस अपराध के लिए न्यूनतम सजा मैच फीस का 50 प्रतिशत जुर्माना और अधिकतम सजा एक टेस्ट का निलंबन है. कोहली ने इस बीच ट्विजर पर इस मुद्दे पर अपना पक्ष रखा था. उन्होंने ट्विटर पर लिखा, मैं इस बात से सहमत हूं कि क्रिकेटरों को पलटकर प्रतिक्रिया नहीं देनी चाहिए लेकिन तब क्या जब दर्शक आपकी माता और बहन के बारे के बुरी बातें कर रहे हों, उतनी बदतर जितनी मैंने आज तक नहीं सुनी. इंग्लैंड के पूर्व कप्तान और एक समय आईपीएल टीम रायल चैलेंजर्स बेंगलूर में कोहली के साथी रहे केविन पीटरसन ने ट्विटर पर इस युवा बल्लेबाज से सहानुभूति जताई. उन्होंने कहा कि दोस्त आस्ट्रेलिया में तुम्हारा स्वागत है. तुम उन्हें हराओ और वे तुम्हें अपमानित करना शुरू कर देंगे.

क्लार्क का बल्ला रहा सूना

आस्ट्रेलियाई कप्तान माइकल क्लार्क ने भारत के खिलाफ  नाबाद तिहरा शतक बनाकर सिडनी क्रिकेट मैदान पर रिकार्ड बुक में अपना नाम लिखवा लिया है लेकिन पहली बार उनके बल्ले पर किसी भी प्रायोजक का लोगो नहीं था. उनकी इस उपलब्धि से चार दिन पहले डनलप स्लाजेंगर ने इस बल्लेबाज के साथ लंबे समय से चले आ रहे अनुबंध को तोड़ दिया था.

Related Posts: