मानस भवन में तैयारी बैठक संपन्न

भोपाल, 4 दिसंबर. हिन्दी भवन में 24 दिसंबर को होने वाले ब्राम्हण अंतर्राष्ट्रीय महाकुंभ की तैयारी पर रविवार को बैठक हुई. ब्राम्हण अंतर्राष्ट्रीय एवं व्यक्तित्व सेवा संस्थान द्वारा मानस भवन में संपन्न बैठक में संयोजक डा. मोहन शर्मा ने बीते चार माह में प्रदेश के विभिन्न जिलों में हुई बैठक एवं तैयारियों की जाकारी दी एवं बताया कि सम्मेलन में 20 हजार से ज्यादा विप्र बंधुओं के शामिल होने की संभावना है.

सम्मेलन के लिए विभिन्न समितियों के गठन, ब्राम्हण समाज के सभी उपवर्गो को आमंत्रित करने, ब्राम्हण समाज की दशा दिशा पर संगोष्ठ, सभी उपवर्गो को एक मंच प्रदान करने, युवक-युवती मिलन आदि बिंदुओं पर व्यापक चर्चा में सभी ने अपने सुझाव रखे. बैठक में कैलाशचन्द्र पंत के निर्देशन में समितियों के गठन का निर्णय लिया गया. मुख्य आतिथि एवं पीतांबरा पीठ के महंत रवींद्रदास ने विप्र समाज के लोगों को परस्पर विरोधाभाषी बातों को छोड़कर संगटित होने पर जोर दिया. उनके सुझाव पर बैठक में वरिष्ठ साहित्यकार कैलाश चन्द्र पंत को आयोजन समिति का प्रमुख बनाया गया. बैठक का संचालन करते हुए हिन्दू उत्सव समिति के अध्यक्ष डा. जीवनलाल मुखरैया ने कहा कि ब्राम्हण ने सदैव अपने तप एवं साधना से राष्ट्रोत्थान के लिए कार्य किया है. मानस भवन के कार्याध्यक्ष रमाकांत दुबे से सभी विप्र उपवर्गो से व्यापक संपर्क का सुझाव दिया. राष्ट्रीय एकता परिषद के उपाध्यक्ष रमेश शर्मा ने कहाकि आज ब्राम्हण में अहं ज्यादा एवं विश्वास कम हो गया हो गया.

उन्होंने कहा कि इतिहास में व्याप्त भ्रांतियों के कारण ही अन्य जातियों के लोग ब्राम्हण की उपेक्षा कर रहे हैं, जबकि वास्तव में जातिवाद से पूरे ब्राम्हण ने सदैव पुरी मानव जाति के कल्याण की कामना किया है. बैठक की अध्यक्षता करते हुए पंत ने कहा कि देश को विखंडित करने की कुचेष्टï में असफल अंग्रेज सफल हो गए, तब इसकी वजह जानने शोध कराया. शोध में इसकी वजह उन्होंने ब्राम्हण जाति को पाया, जिस कारण अंग्रेजों ने ब्राम्हण इंस्टीट्यूशन नाम देकर ब्राम्हणों के खिलाफ देश में भ्रम फैलाया. शर्मा ने 14-15 अप्रैल को रामलीला मैदान दिल्ली में होने वाले अखिल भारतीय बहुभाषीय ब्राम्हण महासंघ की विस्तृत जानकारी दी. अन्य प्रमुख वक्ताओं में रमाकांत दुबे, सेंट्रल को-आपरेटिव बैंक के चेयरमैन विजय तिवारी, पं. गोविंद व्यास, दिनेश शर्मा, गिरीश शर्मा, पूर्व जिला पंचायत सदस्य मनोज वशिष्ठ, हरिनारायण व्यास, महेश दुबे, अशोक धमेनिया, लक्ष्मीनारायण पारसर, छाया दुबे, राजेश शर्मा गंजबासौदा, आर पी त्रिपाठी, अजय तिवारी सहित सैकड़ों लोग उपस्थित थे.

Related Posts: