छह: एम जी डी पानी की मांग से कराया अवगत

भोपाल, 24 नवंबर, नभासं. भेल कारखाने सहित बासिंदों के बीच पानी की समस्या को लेकर इंटक यूनियन के अध्यक्ष आर.डी. त्रिपाठी के नेतृत्व में एक प्रतिनिधि मंडल ने राज्यपाल रामनरेश यादव से भेंट की और उन्हें पानी की अपर्याप्त सप्लाई संबंधी ज्ञापन सौंपा. साथ ही राज्यपाल से भेल में पर्याप्त पानी 6 एमजीडी सप्लाई सुनिश्चित कराने का आग्रह भी किया.

ज्ञापन में उल्लेख है कि 29 अक्टूबर को भोपाल नगर निगम ने अपनी एक तरफा, मनमर्जी कार्रवाई कर भेल भोपाल का पानी बंद कर दिया है. वर्तमान समय में भोपाल नगर निगम द्वारा जो वाटर सप्लाई हो रही है वह नाममात्र की है. तीन-चार दिन के बाद कभी पानी आता है, कभी वह भी नहीं आता है. भेल भोपाल प्रबंधन अभी भी टैंकरों द्वारा उद्योग नगरी एवं अस्पताल में पानी सप्लाई कर रहा है. भोपाल नगर निगम का यह एक ऐसा क्रूरतम कृत्य है जिसके चलते उद्योग नगरी के रहवासियों की अत्यंत दुर्गत हो रही है. ऐसी अमानवीय कार्यवाही करके नगर निगम अपने सांविधिक दायित्वों से मुंह मोड़ रहा है. यदि यही स्थिति रही तो उद्योग नगरी में बलवा जैसी स्थिति निर्मित हो सकती है.

इंटक के अध्यक्ष आर.डी. त्रिपाठी द्वारा दिये गये ज्ञापन को राज्यपाल ने गंभीरता से पढ़ा एवं भेल कर्मियों एवं रहवासियों के पानी से जूझते हुये संकट को त्वरित कार्रवाई कर समस्या का निदान करने के लिये प्रतिनिधि मंडल को आश्वस्त किया है तथा इस संबंध में शीघ्र एवं प्रभावी कार्रवाई हेतु राज्यपाल ने संबंधित अधिकारियों से बात भी की है. प्रतिनिधि मंडल में आर.डी. त्रिपाठी के साथ इंटक के पदाधिकारी गौतम मोरे, आर.के. हुरडे, राजेश शुक्ला एवं व्ही.एस. राठौर भी उपस्थित थे.

Related Posts: