चेन्नई, 27 मई, ए. मानविंदर बिसला 89 के ट्ïवेंटी-20 करिअर की सर्वश्रेष्ठ पारी और जैक्स कैलिस 69 के साथ उनकी विस्फोटक शतकीय साझीदारी से कोलकाता नाइट राइडर्स ने गत दो बार के चैंपियन चेन्नई सुपरकिंग्स को आज यहां आईपीएल-5 के फाइनल पांच विकेट से हराकर इस टूर्नामेंट के खिताब पर पहली बार कब्जा किया.

2008 में आईपीएल की शुरुआत के बाद से यह पहला मौका है जब कोलकाता टीम प्ले आफ में भी जगह बना पायी और इस मौके को भुना उसने खिताब पर भी एक ही झटके में कब्जा कर लिया. दूसरी तरफ लगातार तीसरी बार फाइनल में पहुंचे चेन्नई सुपरकिंग्स के हाथों से हैट्रिक का बनाने मौका फिसल गया. चेन्नई ने सुरेश रैना 73 माइकल हसी 54 और मुरली विजय 42 की शानदार पारियों से फाइनल में आज तीन विकेट पर 190 रन का मजबूत स्कोर बनाकर कोलकाता नाइटराइडर्स के सामने मुश्किल लक्ष्य रख दिया लेकिन कोलकाता ने बिसला और कैलिस की धमाकेदार पारियों के सहारे इस लक्ष्य को बौना साबित कर 19.4 ओवर में पांच विकेट पर 192 रन बनाकर इतिहास रच दिया.

कैलिस ने 48 गेंदों की पारी मे सात चौके और एक छक्का जड़ा जबकि बसिला ने 48 गेंदों की अपनी पारी में आठ चौके और पांच गगनचुंबी छक्के जड़े, दोनों के बीच दूसरे विकेट के लिए 13.4 ओवर में 136 रन की साझीदारी हुई. पूरे मैच में कोलकाता का सफर उतार-चढ़ाव का रहा. पहले ही ओवर में कप्तान गौतम गंभीर (02) का विकेट मात्र तीन रन के स्कोर पर गंवाने के बाद कैलिस और बिसला की शतकीय साझीदारी ने उसे अचानक मैच में वापस ला दिया. जब तक बिसला क्रीज पर रहे. पलड़ा कोलकाता के पक्ष में झुका रहा लेकिन उनके आउट होते ही स्थिति पेंडुलम जैसी हो गयी. बिसला 139 के टीम स्कोर पर दूसरे बल्लेबाज के रूप में आउट हुए. उन्हें एल्बी मोर्कल ने सुब्रह्मण्यम बद्रीनाथ के हाथों कैच कराया. उन्होंने 48 गेंदों की अपनी पारी में आठ चौके और पांच गगनचुंबी छक्के जड़े. इसके बाद लक्ष्मी रतन शुक्ला तीन और यूसुफ पठान एक रन बनाकर चलते बने.

इस बीच कैलिस के एकतरफा प्रहारों से कोलकाता की उम्मीदें रह-रह कर हिलोरें मार रही थीं लेकिन 175 रन के टीम स्कोर पर उनके पांचवें विकेट के रूप में आउट होने से उम्मीदों का यह दीया जोरों से टिमटिमाने लगा. कैलिस ने 48 गेंदों की पारी मे सात चौके और एक छक्का जड़ा. कैलिस के आउट होने से कोलकाता के खेमे में एक बार फिर सबकी सांसे अटक गयी लेकिन नियति को नया इतिहास देखना मंजूर था. कोरबो, लोरबो के मूलमंत्र वाले कोलकाता के खिलाडिय़ों ने हिम्मत नहीं हारी और इतिहास रच कर ही दम लिया. जब कोलकाता जीत की देहरी पर पहुंच कर फिसलता दिख रहा था तो सारा दारोमदार आलराउंडरों शाकिब अल हसन (11) और मनोज तिवारी (09) पर आ टिका. आखिरी ओवर में 10 रन की जरूरत थी. पहली दो गेंदों पर दोनों खिलाडिय़ों ने छोर बदले और फिर मनोज तिवारी ने लगातार दो चौके जड़कर मैच खत्म कर दिया. तिवारी के विजयी चौका जड़ते ही दर्शक दीर्घा में मौजूद कोलकाता टीम के समर्थक खुशी से बल्लियों उछलने लगे.

इससे पहले टास जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी चेन्नई के तीनों शीर्ष बल्लेबाजों ने भी जमकर रन बटोरे. रैना सबसे ज्यादा आक्रामक रहे. उन्होंने मात्र 38 गेंदों में 73 रन में तीन चौके और पांच छक्के ठोके. ऐसा लग रहा था कि रैना ने आईपीएल-पांच में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन फाइनल के लिए संभालकर रखा था. ओपनर हसी ने 43 गेंदों पर 54 रन में चार चौके और दो छक्के लगाए जबकि पिछले मैच के शतकधारी विजय ने 32 गेंदों पर 42 रन में चार चौके और एक छक्का लगाया. कप्तान महेन्द्र सिह धोनी 14 रन पर नाबाद रहे. हसी और विजय ने ओपनिंग साझेदारी में 10.2 ओवर में 87 रन जोड़े. रैना और हसी के बीच दूसरे विकेट के लिए 73 रन की साझेदारी 6.5 ओवर में बनी. रैना और धोनी ने तीसरे विकेंट के लिए 2.5 ओवर में 30 रन जोड़े.

कोलकाता की तरफ से शाकिब अल हसन ने 25 रन पर एक विकेट, जैक्स कैलिस ने 34 रन पर एक विकेट और रजत भाटिया ने 23 रन पर एक विकेट लिया. कोलकाता की पारी में बेन हिल्फेनहस ने दो विकेट लिये जबकि मोर्कल और ब्रावो को एक-एक विकेट मिले.

कोलकाता को पहला झटका, गंभीर सस्ते में पवेलियन लौटे

चेन्नई, 27 मई, ए.  सुरेश रैना (73) और माइक (54) की धमाकेदार अर्धशतकों के दम पर गत चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स ने आईपीएल-पांच के खिताबी जंग में कोलकाता नाइटराइडर्स के सामने जीत के लिए 191 रनों का विशाल लक्ष्य रखा. जवाब में कोलकाता ने कप्तान गौतम गंभीर (2) का विकेट गंवा दिया और स्कोर पांच ओवर में एक विकेट पर 41 रन है.

एमए चिंदबरम स्टेडियम में खेले जा रहे मुकाबले में चेन्नई ने दो अर्धशतकों की बदौलत 20 ओवर में तीन विकेट पर 190 रन बनाए. हसी ने 43 गेंदों पर चार चौका व दो छक्का 54 रन बनाए. जबकि रैना ने धमाकेदार बल्लेबाजी करते हुए 37 गेंदों में तीन चौका व पांच जोरदार छक्के भी जड़े. कप्तान धोनी ने नौ गेंदों पर 14 रन बनाकर नाबाद लौटे. धोनी की अगुआई वाली टीम चेन्नई लगातार तीसरी बार जबकि कुल चौथी बार फाइनल में जगह बनाने में कामयाब हुई है वहीं गौतम गंभीर की कप्तानी वाली नाइटराइडर्स पहली बार फाइनल में पहुंची है. किस्मत के सहारे प्ले आफ में पहुंचने वाली सुपर किंग्स ने दूसरे क्वालीफायर मुकाबले में खिताब की दावेदारों में शुमार दिल्ली डेयरडेविल्स को 86 रनों से हराकर फाइनल में प्रवेश किया जबकि एलिमिनेशन राउंड में चेन्नई ने मुंबई इंडियंस को 38 रनों से मात दी थी. पहले बल्लेबाजी करने के फैसले को सही साबित करते हुए हसी और विजय ने आतिशी शुरुआत करते हुए 87 रनों की शानदार साझेदारी कर डाली.

दोनों पहले ओवर में ब्रेट ली की गेंद पर महज तीन रन ही बना पाए. अगले ओवर में शाकिब अल हसन ने भी तीन रन दिए लेकिन इसके बाद दोनों ने गियर बदलते हुए अगले ओवर में 11 रन बटोर लिए. चौथे ओवर में हसी ने शाकिब की गेंद पर एक चौका व एक छक्का जमाया. दूसरी ओर विजय आज भी जोरदार फार्म में दिखे और ब्रेट ली के तीसरे और पारी के छठे ओवर में छक्का और चौका लगाया. हसी ने भी इस ओवर में एक और छक्का लगाया. अच्छी शुरुआत का फायदा उठाते हुए कोलकाता ने 10 ओवर में 86 रन बना लिए. विजय की शानदार पारी का अंत रजत भाटिया ने 11वें ओवर में किया. ओवर की दूसरी गेंद पर सीमा रेखा के पास शाकिब ने शानदार प्रयास करते हुए विजय को लपक लिया. विजय ने 32 गेंदों में चार चौका व एक छक्के की मदद से 42 रन बनाए. आज अपना जन्मदिन मनाने वाले हसी ने अपना पचासा पूरा किया. इस बीच नए बल्लेबाज सुरेश रैना ने भी आते ही अपने तेवर दिखाने शुरू किया और 12वें ओवर में कालिस की गेंद पर छक्का जमाया. इसके बाद 14वें ओवर में यूसुफ पठान की गेंद पर रैना ने लगातार तीन गेंदों पर दो चौका व एक छक्का जमाया. रैना आज जोरदार फार्म में दिखे और 17वें ओवर में अपना सुनील नरेन की गेंद पर छक्का जमाकर मात्र 28 गेंदों में ही अपना पचासा पूरा कर लिया. अगले ओवर की पहली गेंद पर जैक्स कालिस ने हसी को बोल्ड कर चलता किया. इसके बाद क्रीज पर कप्तान धोनी आए और तेजी से रन बटोरे.

स्कोर बोर्ड

चेन्नई                     रन     गेंद    4    6
माइक हसी  बो. कालिस     54     43     4     2
विजय का.शकीब बो. भाटिया     42     32     4     1
रैना का.ली बो. शाकिब     73     38     3     5
एमएस धौनी  नाबाद     14     9     2     0
अति: 7  कुल स्कोर 190/3 विकेट (20) ओवर रन रेट 9.50
विकेट पतन 87/1 (10.2), 160/2 (17.1)
गेंदबाजी-ली 4-0-42-0,भाटिया 3-0-23-1,साकिब 3-0-25-1, नारायन 4-0-37-0   ,अब्दुल्ला 1-0-9-0,कालिस 4-0-34-1,  यूसुफ पठान 1-0-17-0.

केकेआर               रन     गेंद    4    6
बिसला का.बद्रीनाथ बो.मोर्केल     89     48     8     5
गौतम गंभीर  बो. हिल्फेनहास     2     4     0     0
कालिस का.जडेजा बो.हिल्फेनहास     69     49     7     1
शुक्ला का.हसी बो.ब्रावो     3     6     0     0
यूसुफ का.बद्रीनाथ बो. आश्विन     1     2     0     0
शाकिब अल हसन नाबाद      11     7     1     0
मनोज तिवारी नाबाद      9     3     2     0
अति: 8  कुल स्कोर 192/5 विकेट (19.4) ओवर रन रेट 9.76
विकेट पतन 3/1 (1), 139/2 (14.4), 152/3 (16.2), 164/4 (17.1), 175/5 (18.5)
गेंदबाजी-हिल्फेनहास 4-0-25-2,मोर्केल 4-0-38-1,आश्विन 4-0-41-1,ब्रावो 3.4-0-49-1,जकाती 4-0-38-0.

Related Posts: