वाराणसी, 13 फरवरी.भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद ने सोमवार को कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि कानून मंत्री सलमान खुर्शीद द्वारा बाटला हाउस एनकांउटर के सम्बंध में दिए गए बयान पर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और महासचिव राहुल गांधी चुप क्यों हैं? प्रसाद ने कहा, आजाद भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब देश का कानून मंत्री ही चुनाव आयोग को चुनौती दे रहा है, जो काफी दुर्भाग्यपूर्ण है. खुर्शीद के खिलाफ प्रधानमंत्री को कार्रवाई करनी चाहिए. और यदि उनके खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई तो यह काफी खेदजनक होगा.

खुर्शीद मामले पर पीएम दे सकते हैं दखल

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह उत्तर प्रदेश में मुस्लिम आरक्षण पर केंद्रीय कानून मंत्री सलमान खुर्शीद के आक्रामक रवैये की निर्वाचन आयोग द्वारा शिकायत करने के मुद्दे पर वरिष्ठ मंत्रियों एवं पार्टी नेताओं से चर्चा कर सकते हैं. कांग्रेस के अंदरुनी सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी. इस मुद्दे पर खुर्शीद ने रविवार को प्रधानमंत्री से चर्चा की. सम्भावना जताई जा रही है कि खुर्शीद कुछ स्पष्टीकरण दे सकते हैं.

कांग्रेस सूत्रों ने बताया कि खुर्शीद के बयान से पहले प्रधानमंत्री बैठक में खुर्शीद के बयान पर भी चर्चा कर सकते हैं. इस बयान में इस बात का स्पष्टीकरण होगा कि निर्वाचन आयोग की अवहेलना एवं टकराव जैसी कोई बात नहीं है. सूत्रों के मुताबिक पार्टी नहीं चाहती है कि उसे निर्वाचन आयोग जैसी संवैधानिक संस्था की अवहेलना करने वाले के रूप में देखा जाए. चुनाव आयोग के रूख को लेकर कानून मंत्री सलमान खुर्शीद के विवादास्पद बयान के बारे में प्रधानमंत्री कार्यालय में राज्य मंत्री वी नारायणसामी ने कोई टिप्पणी करने से इंकार कर दिया.

उनके अनुसार,’ हमने इस दिशा में बहुत सारे कदम उठाए हैं कि भ्रष्टाचार की गतिविधियों को पनपने से पहले ही नष्ट कर दिया जाए. हमने इसके लिए देश में ग्रामीण से लेकर भारत सरकार के स्तर तक भ्रष्टाचार निरोधी कानूनों को मजबूत किया है. जिस क्षेत्र में हम कठिनाई महसूस कर रहे हैं, वह है अपराधियों द्वारा विदेशों में जमा धन की वसूली का मामला.’

Related Posts: