• दतिया जिले में जारी है बुखार से मौतों का सिलसिला

दतिया। पिछले दिनों उनाव क्षेत्र के ग्राम ललउआ में मलेरिया से हुई छह मौतों के बाद भी यह सिलसिला रूका नहीं है। दतिया तहसील के ग्राम बहादुरपुर में पिछले सात दिनों में अज्ञात बुखार से सात लोगों की मौत हो चुकी है, जिनमें तीन बच्चों एवं एक महिला सहित तीन अधेड़ व्यक्तियों की मौत हो चुकी है। जबकि प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग इस ओर से बेखबर बना हुआ है। जिले के चारो तरफ से आ रही खबरों के मुताबिक जिले में अब तक डेढ़ दर्जन से अधिक मौतें मलेरिया अथवा इससे मिलते जुलते बुखार के कारण हो चुकी हैं।

ग्राम ललउआ में होने वाली समस्त छह मौतों के परीक्षण के बाद यह बात साबित हो चुकी है कि उक्त मौतें मलेरिया बुखार की वजह से हुई है। इस बात को स्वास्थ्य अधिकारी भी स्वीकार करते हैं। इसी तरह विगत शनिवार को भाण्डेर में सोनू मिश्रा नामक 25 वर्षीय युवक की जान मलेरिया बुखार ने ले ली। शनिवार से सोमवार की दरम्यानी रातों में ही जिला मुख्यालय से लगभग 8 किलो मीटर दूरी पर स्थित ग्राम बहादुरपुर के तीन लोग मलेरिया अथवा किसी अन्य अज्ञात बुखार के चलते काल कल्वित हो गये। पिछले सात दिनों में चकबहादुरपुर एवं बहादुरपुर के सात लोंगो की जान इस बुखार ने ले ली हैं। स्वास्थ्य मंत्री का चुनाव क्षेत्र होते हुए भी स्वास्थ्य विभाग के अमले द्वारा इस परिपेक्ष्य में बरती जा रही गम्भीर लापरवाही भारी चिन्ता का विषय है।

  •  बुखार ने ली इनकी जान

बहादुर के नारायण खंगार की 12 वर्षीय पुत्री, रतीराम अहिरवार का 10 वर्षीय पुत्र, चैना बंशकार की 7 वर्षीय पुत्री, धन्नूपाल उम्र 58 वर्ष, मुन्नी अहिरवार उम्र 55 वर्ष, श्याम अहिरवार चकबहादुरपर उम्र 50 वर्ष एवं दिल्ले अहिरवार की पुत्रवधू। ये सात लोग स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही का शिकार होकर अज्ञात बुखार के चलते एक-एक करके काल का ग्रास बन गये। जिससे सारे गाँव में मातम पसरा हुआ है।

  •  इनका कहना है

ग्राम ललउआ में मलेरिया बुखार से हुई मौतों की जानकारी तो मुझे है परन्तु ग्राम बहादुरपुर या अन्य किसी स्थान की जानकारी मुझे नहीं है। मैं टीम भेजकर इसकी जानकारी करवाऊँगा। मलेरिया के अलावा अन्य किसी बीमारी के फैलने की जानकारी नहीं है। (आर.एस. गुप्ता, मुख्य चिकित्सा अधिकारी दतिया)

Related Posts: