टोक्यो, 8 जुलाई. विदेश मंत्री एस.एम. कृष्णा ने रविवार को अपनी पाकिस्तानी समकक्ष हिना रब्बानी खार से मुलाकात की और इस मुलाकात में उन्होंने पुरजोर तरीके से पाकिस्तान की धरती से चलाई जा रही भारत विरोधी गतिविधियों और इस संबंध में पड़ोसी देश को अतिरिक्त ठोस सुबूत मुहैया कराए जाने का मामला उठाया.

अफगानिस्तान के संबंध में हो रहे सम्मेलन से इतर कृष्णा ने यहां खार से मुलाकात की और उनसे भारत विरोधी आतंकवादी गतिविधियों पर रोक लगाने के लिए कदम उठाने को कहा .
इस मुलाकात के दौरान भारतीय विदेश मंत्री ने इस बात पर जोर दिया कि इस प्रकार की गतिविधियों के सम्बंध में अतिरिक्त ठोस सबूत पाक को मुहैया कराए गए हैं. सरकारी सूत्रों ने बताया कि 26/11 के मुंबई हमलों को अंजाम देने वालों के प्रमुख सहायक की भूमिका अदा करने वाले और लश्कर-ए-तैयबा के अबु जुंदाल द्वारा किए गए हालिया खुलासे, लश्कर के संस्थापक हाफिज सईद द्वारा भारत के खिलाफ दुष्प्रचार जारी रखने और सरबजीत सिंह की रिहाई का मुद्दा विदेश मंत्रियों की मुलाकात में छाया रहा.

दोनों विदेश मंत्रियों की मुलाकात से पूर्व नई दिल्ली में भारत और पाकिस्तान के विदेश सचिवों की बैठक हो चुकी है. विदेश सचिव स्तरीय वार्ता के दौरान विदेश सचिव रंजन मथाई ने अपने पाक समकक्ष जलील अब्बास जिलानी के साथ जंदाल से प्राप्त की गई सूचनाओं को साझा किया था. जुंदाल ने बताया है कि 2008 के मुंबई हमले के समय वह सईद के साथ पाकिस्तान स्थित नियंत्रण कक्ष में था.

Related Posts: