मु.नि. अधि. से शिकायत

भोपाल, 4 जून. वर्तमान में मतदाता सूची संशोधन/ परिवर्धन/ निरसन कार्य सम्पादित किया जा रहा है. कतिपय मतदाता केंद्रों पर देखने में आ रहा है कि प्रसार की कमी की वजह से कार्य सुचारू रूप से सम्पन्न नहीं हो पा रहा है तथा बीएलओ को भी इस कार्य हेतु स्वयं के कार्यालय से भारमुक्त नहीं किया गया है.

जिसके कारण उसे कार्य करने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. सुबह 8 बजे से 10 बजे तक निर्वाचन कार्य, 10.30 से 5.30 तक कार्यालयीन कार्य एवं 5.30 से 10 बजे रात तक कार्य करना पड़ रहा है. इस तरह बीएलओ को सुबह 8 से रात 10 बजे रात तक कार्य करना पड़ रहा है जो कि श्रमिक अधिनियम के विरुद्घ है तथा इसमें प्रदाय किया जाने वाला पारिश्रमिक भी न्यूनतम है. ज्ञात हो कि निर्वाचन आयोग द्वारा मतदाता सूची का कार्य साल भर में 2 बार कराया जाता है जिसका पारिश्रमिक मात्र 3000 रुपये प्रदाय किया जाता है, जो कि अत्यंत कम है. बीएलओ का मानदेय में 5 गुना कम से कम वृद्घि करनी चाहिये एवं यह कार्य करने हेतु उसे मूल कार्यालय से भारमुक्त के आदेश प्रसारित होने चाहिये, जिससे मतदाता सूची का कार्य सुचारू रूप से सम्पन्न किया जा सके तथा कतिपय बीएलओ द्वारा अवगत कराया गया है कि नेशनल वोटर डे पर अतिरिक्त मिलने वाला पारिश्रमिक भी आज दिनांक तक वितरित नहीं किया गया है. ज्ञातव्य हो कि बीएलओ द्वारा 42 डिग्री से 44 डिग्री पर घर-घर घूमकर चुनौती भरा कार्य पूर्ण किया जा रहा है.

मतदान केंद्र पर मतदाता संख्या 1000 से अधिक न हो. बीएलओ को मूल कार्यालय से भारमुक्त करने के आदेश प्रसारित हो. पारिश्रमिक में कम से कम 5 गुना वृद्घि हो. नेशनल वोटर डे पर अतिरिक्त पारिश्रमिक प्रदाय करने के आदेश प्रसारित हों. उक्त कार्यावधि में बीएलओ को बीमा की सुविधा उपलब्ध हो एवं मेडिकल क्लेम की सुविधा मिले. मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को ज्ञापन सौंपा. इसमें गोङ्क्षवद गोयल, गुड्ïडू चौहान, आनंद तारण, अनस खान, प्रदीप शर्मा, गोपाल बाजपेयी, ओम यादव, सीताराम यादव, विनोद गिरि दिलीप लालवानी, योगेश सराठे आदि उपस्थित थे.

Related Posts: