आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को समय पर मिले मानदेय

भोपाल,12 दिसंबर.  महिला-बाल विकास राज्य मंत्री रजंना बघेल ने जिलों को योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए आवंटित की जाने वाली राशि के लैप्स या समर्पित होने पर संबंधित अधिकारियों के विरूद्ध एकपक्षीय कार्रवाई करने के निर्देश दिये हैं. बघेल आज विभागीय अधिकारियों की राज्य स्तरीय समीक्षा बैठक को सम्बोधित कर रही थी.

बैठक जिलों को त्रैमासिक बजट आवंटन की स्थिति की समीक्षा के लिये आयोजित थी. बैठक में प्रमुख सचिव महिला-बाल विकास बी.आर. नायडू और संचालक,अनुपम राजन भी उपस्थित थे. बघेल ने कहा कि जिन जिलों ने विभागीय योजनाओं पर तृतीय त्रैमास के लिए जारी राशि में से पर्याप्त खर्च नहीं की है, वे अपनी स्थिति शीघ्र सुधार लें, अन्यथा सख्त कार्रवाई के लिए तैयार रहें. राशि शेष रहने अथवा समर्पित होने पर एक पक्षीय कार्यवाही में उनके विरुद्ध निलम्बन की कार्रवाई भी हो सकती है. उन्होंने कहा तृतीय त्रैमास की वित्तीय स्थिति के संबंध में वे पुन: 21 दिसम्बर को संभागीय संयुक्त संचालकों की बैठक लेंगी. सभी जिले 20 दिसम्बर यानि एक सप्ताह में लम्बित प्रकरणों का निराकरण कर हितग्राहियों को लाभान्वित करें. उन्होंने कहा कि जनहित से जुड़ी लाड़ली लक्ष्मी योजना, मंगल दिवस, अटल बाल मिशन और पोषण आहार वितरण पर व्यय की जाने वाली राशि निर्धारित समयावधि में व्यय की जानी चाहिये.

रंजना बघेल ने कहा कि मंगल दिवस तथा अटल बाल मिशन के शिविरों में जन-प्रतिनिधियों को भी बुलाया जाए. जो अधिकारी बिना किसी सूचना के बैठक में नहीं आए, उन्हें शो-कॉज नोटिस दिया जाए. उन्होंने कहा कि आँगनवाड़ी कार्यकर्त्ताओं-सहायिकाओं को निर्धारित समय पर मानदेय का भुगतान होना चाहिए. अटल बाल मिशन की अपनी कार्य-योजनाओं पर सभी जिले अमल करें.बघेल ने कहा कि लाड़ली लक्ष्मी योजना की कार्यवाही सतत जारी रखी जाए. आँगनवाड़ी केन्द्र के समय से खुलने पर विशेष ध्यान दिया जाए. अधिकारी आँगनवाड़ी केन्द्रों का औचक निरीक्षण भी करें. कम संख्या बताकर आँगनवाड़ी बंद न रखे जायें. उन्होंने कहा कि विभाग सूचना प्रौद्योगिकी के जरिए अब स्वयं के स्रोत से जिलों की जानकारी एकत्रित करता है. संचालक अनुपम राजन ने बताया कि लाड़ली लक्ष्मी योजना के एनएससी के प्रकरण त्वरित गति से बने इसके लिए पोस्टल महानिदेशक से चर्चा की गई है. सभी आंगनवाड़ी केन्दों पर कॉल सेंटर का टोल-फ्री नम्बर 155343 अनिवार्य रूप से लिखा जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि सभी जिलों में बाल संरक्षण समितियों के खाते खोले जा चुके हैं. बैठक को बी.आर. नायडू ने भी सम्बोधित किया. इसके पूर्व श्रीमती रंजना बघेल ने विभाग द्वारा सबला योजना पर आधारित सीडी ”जिद-आकाश छूने कीÓÓ का लोकार्पण किया. उन्होंने विभाग के भवन में लगाई लिफ्ट का शुभारंभ कर देवास, शाजापुर और रतलाम के लिए अटल बाल मिशन की वाहनों को रवाना भी किया.

Related Posts: