भारत-पाकिस्तानी चाहते हैं मिलकर रहना

नयी दिल्ली, 6 सितम्बर. भारत और पाकिस्तान की अवाम के दिलों में एक दूसरे के लिए बहुत मोहब्बत है और वे सभी मतभेदों को दूर करके दूरियां मिटाने की पक्षधर है लेकिन दोनों मुल्कों की सरकारें अपनी अपनी सियासत चमकाने में लगी है जिस कारण स्थिति जस की तस बनी हुई है.

राजधानी में कल संपन्न हुए 12वें ग्लोबल महिला उद्यमी अन्तर्राष्ट्रीय सम्मलेन में अपने उत्पादों की प्रदर्शनी लगाने आई पाकिस्तानी महिलाओं ने  कहा कि दोनों मुल्कों के लोगों में भाईचारे की भावना है और वे चाहते है आपस में मिलजुलकर रहा जाये लेकिन दोनों मुल्कों की सरकारें अपनी सियासत चमकाने के कारण नहीं चाहती कि दोनों मुल्कों के बीच गतिरोध खत्म हो और दूरियां मिटे. इस्लामाबाद वूमैन चैंबर आफ कामर्स एंड इंडस्ट्री की संस्थापक अध्यक्ष समिना फाजिल ने कहा कि दोनों मुल्कों की अवाम चाहती है कि भारत और पाकिस्तान के बीच गतिरोध दूर हो और लोग आपस में प्यार मोहब्बत से रहे लेकिन राजनीति के कारण ऐसा नहीं हो पाता. उन्होंने कहा कि दोनों देशो के बीच मनमुटाव खत्म होने के बाद लोग बेखौफ होकर एक दूसरे के यहां आ जा सकेंगे और कला. संस्कृति. व्यापार. संगीत और सिनेमा आदि क्षेत्रों में सहयोग बढेगा. उन्होंने सवाल किया कि दोनों देशो की जुबान एक है. संस्कृति एक है. पहनावा एक है .खानपान और रंगढंग एक है तो फिर ये दूरियां क्यों. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान में भारत के सामानों को और भारत में पाकिस्तान के सामानो को पसंद किया जाता है.

संबंधों को सामान्य करने के लिए उठाए उत्साही कदम: पाक

इस्लामाबाद, विदेश मंत्री एसएम कृष्णा के इस्लामाबाद दौरे से पहले पाकिस्तान ने कहा कि उसने महत्वपूर्ण पड़ोसी भारत के साथ संबंधों को बेहतर बनाने और जम्मू-कश्मीर समेत सभी महत्वपूर्ण द्विपक्षीय मुद्दों को सुलझाने के लिए उत्साही और अभूतपूर्व कदम उठाए हैं.

पाकिस्तान की विदेश मंत्री हिना रब्बानी खार ने कहा कि बतौर लोकतांत्रिक सरकार हमने उत्साही और अभूतपूर्व निर्णय लिए हैं. भारत को सर्वाधिक तरजीही देश का दर्जा देने की पाकिस्तान की घोषणा ने भारत-पाकिस्तान के संबंधों को सामान्य बनाने की प्रक्रिया को नयी गति दी है. उन्होंने कहा कि इस प्रक्रिया को बेहतर संबंध विकसित करना चाहिए. और हमारा मानना है कि एक बेहतर और मजबूत संबंध ही सभी द्विपक्षीय मुद्दों को सुलझाने की ओर कदम बढ़ाएगा. इसी से सबसे महत्वपूर्ण जम्मू-कश्मीर के मुद्दे का भी हल निकलेगा.

zp8497586rq

Related Posts: