अजलानशाह कप हॉकी

इपोह, 30 मई. पांच बार के चैम्पियन भारत की अजलन शाह हॉकी खिताब जीतने की उम्मीदें बुधवार को ध्वस्त हो गई जब अर्जेंटीना ने अहम मुकाबले में उसे 3-2 से हरा दिया. अच्छे मूव को फिनिशिंग तक नहीं ले जा पाने की भारत की कमजोरी आज फिर उजागर हुई. दूसरी ओर लचर डिफेंस का अर्जेंटीना ने बखूबी फायदा उठाया.

हाफटाइम के ठीक बाद मटियास पारेडेस (37वां मिनट) और सैंटियागो मोंटेली (38वां) ने गोल करके अर्जेंटीना को बढ़त दिला दी. तीसरा गोल 58वें मिनट में मिले पेनाल्टी कार्नर पर गोंजालो पेलाट ने किया. भारत के लिए सरदार सिंह (48वां मिनट) और वीआर रघुनाथ (61वां मिनट) ने गोल दागे लेकिन बराबरी का गोल नहीं कर सका. भारत अब पांच में से तीन मैच हार चुका है और उसके सिर्फ छह अंक है. कल भारत का सामना आखिरी लीग मैच में पाकिस्तान से होगा. अर्जेंटीना के लगातार तीन जीत के बाद नौ अंक है. पहले दो मैचों में उसे पराजय का सामना करना पड़ा था.पहले सत्र में खेल मिडफील्ड में ही होता रहा. दोनों टीमें विरोधी गोल पर हमले करने में नाकाम रही. बाएं फ्लैंक से भारत ने दो मौके गंवाए. भारत को पहला पेनाल्टी कार्नर छठे मिनट में मिला लेकिन संदीप सिंह की उछाल लेती फ्लिक को डिफेंडर ने बचा लिया. पेनाल्टी कार्नर लेते समय संदीप के टखने में खिंचाव भी आ गया और लंबे समय तक वह बाहर रहा. वह हालांकि कल पाकिस्तान के खिलाफ खेलेगा. पहले हॉफ के बाद अर्जेंटीना ने एक मिनट के भीतर दो गोल करके मैच का रुख बदल दिया.डिफेंस में संदीप की चूक का फायदा उठाकर पारेडेस ने पहला गोल किया. एक मिनट के भीतर अर्जेंटीना का स्कोर 2-0 हो गया. इसमें भी गलती भारतीय डिफेंडरों की थी. सरदार सिंह ने गेंद पर नियंत्रण छोड़ा और मोंटेली ने खाली पड़े डिफेंस का फायदा उठाकर आसान गोल कर दिया.

इसके बाद भारतीयों ने जवाबी हमले बोलने शुरू किए. इसमें से एक पर सरदार ने रिवर्स हिट पर गोल किया जब रघुनाथ की फ्लिक को अर्जेंटीना के गोलकीपर जुआन विवाल्डी ने बचा लिया था. गोंजालो पेलाट ने पेनाल्टी कार्नर पर गोल करके अर्जेंटीना को 3-1 की बढ़त दिला दी. हूटर से नौ मिनट पहले रघुनाथ ने ड्रैग फ्लिक पर गोल करके अंतर कम करने की कोशिश की. भारत को 66वें मिनट में फिर पेनाल्टी कार्नर मिला लेकिन रघुनाथ इसे गोल में नहीं बदल सके.

Related Posts: