• आस्ट्रेलियन ओपन टेनिस

नामी खिलाड़ी आगे बढ़े, सानिया बाहर

मेलबर्न,16 जनवरी. गत चैंपियन बेल्जियम की किम क्लाइस्टर्स ने पुर्तगाली क्वालीफायर मारिया जोओ कोहलर को सीधे सेटों में हराकर आस्ट्रेलियाई ओपन टेनिस के दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया. क्लाइस्टर्स ने यह मुकाबला 7-5, 6-1 से जीता. वह कूल्हे की उस चोट से पूरी तरह उबरी हुई नजर आई जिसकी वजह से दो सप्ताह पहले ब्रिसबेन में नहीं खेल सकी थी.

विश्व रैंकिंग में 223वें स्थान पर काबिज मारिया ने पहले सेट में चुनौती देने की कोशिश की लेकिन उसकी अनुभवहीनता आड़े आ गई. जीत के बाद दुनिया की 14वें नंबर की खिलाड़ी क्लाइस्टर्स ने कहा, मुझे अच्छा लग रहा है कि अब मैं चोट से उबर गई हूं. आस्ट्रेलियाई ओपन मुझे शुरू से पसंद है और यहां मेरी कुछ सुनहरी यादें जुड़ी हैं. इस बीच चीन की पांचवीं वरीयता प्राप्त ली ना भी कजाकिस्तान की सेनिया पेरवाक को 6-3, 6-1 से हराकर दूसरे दौर में पहुंच गई. उसकी हमवतन 16वीं वरीयता प्राप्त पेंग शुआइ ने फ्रांस की अरावाने रेजाइ को 6-3, 6-4 से हराकर पहला मुकाबला जीता. जापान की 41 वर्षीय किमिको डेट क्रम हालांकि यूनान की एलेनी दानिलिदोउ से 3-6, 2-6 से हार गई. आस्ट्रेलिया की बेवरली रेइ के बाद दुनिया की सबसे उम्रदराज महिला एकल खिलाड़ी बनी क्रम की उम्र 41 बरस और 109 दिन हैं. रेइ ने 44 बरस की उम्र में खेलकर रिकार्ड बनाया था. जापान की आयुमी मोरिता को 32वीं वरीयता प्राप्त पेत्रा सेत्कोवस्का ने 3-6, 6-1, 7-5 से हराया. पुरुष वर्ग में आस्ट्रेलियाई युवा बर्नार्ड टामिक ने पांच सेटों के मैराथन मुकाबले में स्पेन के फर्नांडो वर्डास्को को हराया. आस्ट्रेलिया के सर्वोच्च रैंकिंग वाले टोमिक ने चार घंटे तक चले मुकाबले में 4-6, 6-7, 6-4, 6-2, 7-5 से जीत दर्ज की. वहीं अमेरिका के आठवीं वरीयता प्राप्त मार्डी फिश ने लक्जेमबर्ग के जाइल्स मूलेर को 6-4, 6-4, 6-2 से हराया.

अल्माग्रो, पोत्रो पहुंचे दूसरे दौर में- विश्व के 10वीं वरीयता प्राप्त स्पेन के टेनिस खिलाड़ी निकोलस अल्माग्रो और अर्जेंटीना के जुआन मार्टिन डेल पोत्रो अपने-अपने मुकाबले जीतकर साल के पहले ग्रैंडस्लैम आस्ट्रेलियन ओपन के दूसरे दौर में प्रवेश कर गए हैं. सोमवार को खेले गए पुरुषों की एकल वर्ग के पहले दौर के मुकाबले में अल्माग्रो ने पोलैंड के लुकास कुबोत को 1-6, 7-5, 6-3, 7-5 से हराया.  उधर, पोत्रो ने फ्रांस के एड्रियान मनारिनो को 2-6, 6-1, 7-5, 6-4 से शिकस्त देकर दूसरे दौर में प्रवेश किया जबकि विश्व के 19वीं वरीयता प्राप्त फेलिसियानो लोपेज ने अर्जेंटीना के लेओनार्डो मायेर को 7-6, 6-3, 7-6 से पराजित किया. वहीं जर्मनी के टेनिस खिलाड़ी फ्लोरियन मायेर ने चोट के कारण आस्ट्रेलियन ओपन से अपना नाम वापस ले लिया है. अंतरराष्ट्रीय टेनिस महासंघ ने इसकी जानकारी दी. मायेर को इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में 20वीं वरीयता प्राप्त थी.

नडाल सहित प्रमुख वरीय खिलाड़ी आगे बढ़े- विश्व के दूसरी वरीयता प्राप्त स्पेन के राफेल नडाल, चेक गणराज्य के टॉमस बेरड्रिक और अमेरिका के मार्डी फिश ने वर्ष के पहले ग्रैंड स्लैम आस्ट्रेलियन ओपन के दूसरे दौर में प्रवेश कर लिया है. टूर्नामेंट के आधिकारिक वेबसाइट के मुताबिक, सोमवार को खेले गए पुरुषों के एकल वर्ग के पहले दौर के मुकाबले में नडाल ने अमेरिका के क्वालीफायर खिलाड़ी एलेक्स कुज्नेतसोव को सीधे सेटों में 6-4, 6-1, 6-1 से पराजित किया. विश्व के सातवीं वरीयता प्राप्त बेरड्रिक ने स्पेन के अल्बर्ट रामोस को 7-5, 4-6, 6-2, 6-3 से शिकस्त दी जबकि विश्व के आठवीं वरीयता प्राप्त अमेरिका के मार्डी फिश ने लक्जमबर्ग के जाइल्स मूलर को 6-4, 6-4, 6-2 से पराजित किया. विश्व के 10वीं वरीयता प्राप्त स्पेनिश खिलाड़ी निकोलस अल्माग्रो ने पोलैंड के लुकास कुबोत को 1-6, 7-5, 6-3, 7-5 से हराया जबकि अर्जेटीना के जुआन मार्टिन डेल पोटरो ने फ्रांस के एड्रियान मनारिनो को 2-6, 6-1, 7-5, 6-4 से शिकस्त दी.

पहले दौर में ही हार बाहर हुईं सानिया- क्रिकेट टीम के निराशाजनक प्रदर्शन के बाद टेनिस में भी भारत को आस्ट्रेलिया से अच्छी खबर सुनने को नहीं मिली तथा एकल में उसकी एकमात्र उम्मीद सानिया मिर्जा को सोमवार को साल के पहले ग्रैंडस्लैम आस्ट्रेलियाई ओपन के शुरुआती दौर में ही हारकर बाहर हो गई. इसके साथ ही एकल में भारतीय चुनौती भी समाप्त हो गई, क्योंकि सोमदेव देवबर्मन कंधे की चोट के कारण इस टूर्नामेंट में भाग नहीं ले रहे हैं. सानिया ने बुल्गारिया की स्वेताना पिरोनकोवा को चुनौती तो दी लेकिन सर्विस पर नियंत्रण नहीं होने के कारण महिला एकल के पहले दौर में उन्हें 88 मिनट तक चले मुकाबले में 4-6, 2-6 से हार का सामना करना पड़ा. भारत की उम्मीदें अब युगल मुकाबलों पर टिकी रहेंगी. कोर्ट नंबर आठ पर खेले गए मैच में सानिया शुरू में लय हासिल नहीं कर पाई और उन्होंने दूसरे गेम में ही अपनी सर्विस गंवा दी और जल्द ही वह 0-3 से पीछे हो गई. इसके बाद दोनों खिलाडिय़ों ने लगातार एक दूसरे की सर्विस तोड़ी और ऐसे में दुनिया में 106वें नंबर की सानिया को शुरुआती गलती भारी पड़ी और उन्होंने 47 मिनट में यह सेट गंवा दिया.

पहले सेट के छठे गेम में वह बराबरी पर आने की स्थिति में थी लेकिन कुछ गलतियां करने के कारण उन्होंने अपनी प्रतिद्वंद्वी को वापसी का मौका दिया और आखिर में अपनी सर्विस गंवा दी. उन्होंने सातवें और नौवें गेम में फिर से 47वें नंबर की पिरोनकोवा की सर्विस तोड़कर वापसी की कोशिश की लेकिन इस बीच वह आठवें और दसवें गेम में अपनी सर्विस बचाने में नाकाम रही. सानिया ने दूसरे सेट की सकारात्मक शुरुआत की और उन्होंने अपनी पहली दोनों सर्विस बचाई. इस बीच उन्होंने एक बार ब्रेक प्वाइंट लेने की स्थिति भी बनाई लेकिन इसे हासिल करने में असफल रही. पिरोनकोवा हालांकि आखिर तक पूरे लय में आ गई और उन्होंने भारतीय खिलाड़ी की गलतियों का फायदा उठाकर लगातार चार गेम जीतकर यह सेट और मैच अपने नाम किया. सानिया ने पिरोनकोवा के 18 के मुकाबले 16 विनर जमाए लेकिन उन्होंने 36 अनफोर्स्ड एरर की तथा तीन डबल फाल्ट करके अपनी प्रतिद्वंद्वी को वापसी का मौका दिया. इस भारतीय खिलाड़ी की निगाहें अब युगल पर टिकी रहेंगी जहां उन्हें और रूस की उनकी जोड़ीदार इलेना वेसनीना को छठी वरीयता दी गई है. इस जोड़ी का पहला मुकाबला यूनान की इलेनी दानेलदोउ और रूस की अलेक्सांद्रा पैनोवा से होगा.

Related Posts: