विश्व-पर्यटन दिवस समारोह में पर्यटन मंत्री पवार

भोपाल,828 सितंबर.8पर्यटन मंत्री तुकोजीराव पवार ने कहा है कि मध्यप्रदेश ने पर्यटन के क्षेत्र में अभूतपूर्व काम करके देश और विदेश में अपनी खास पहचान बनाई है. उन्होंने कहा कि पर्यटन की दृष्टि से मध्यप्रदेश किसी भी प्रदेश से पीछे नहीं है. पर्यटन सुविधाओं को बढ़ावा देने तथा पर्यटकों को बेहतर सुविधाएँ उपलब्ध कराने की दिशा में ठोस प्रयास किये गये हैं.पवार आज यहाँ विश्व पर्यटन दिवस समारोह को संबोधित कर रहे थे. इस मौके पर मध्यप्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम के उपाध्यक्ष संतोष जैन भी मौजूद थे.

पवार ने कहा कि मध्यप्रदेश को पर्यटन के क्षेत्र में आगे लाने के सुनियोजित प्रयास किये जा रहे हैं. हर क्षेत्र में पर्यटन और पर्यटकों को सुविधाएँ मिलें, इसके लिये सुविचारित नीति से काम किया जा रहा है. पर्यटन मंत्री ने प्रदेश में बेमिसाल खूबसूरती और पर्यटन से परिपूर्ण स्थलों का जिक्र करते हुए कहा कि अन्य राज्यों के पर्यटकों का ध्यान राज्य के पर्यटन-स्थलों की ओर आकर्षित हो रहा है.

पर्यटन मंत्री ने कहा कि प्रदेश ने कई राज्यों को पीछे छोड़ते हुए कई पर्यटन अवार्ड प्राप्त किये हैं. श्री पवार ने कहा कि मध्यप्रदेश आज राष्ट्रीय-स्तर पर प्रमुख पर्यटन गंतव्य-स्थल के रूप में अपनी पहचान बना चुका है. उन्होंने कहा कि अब पर्यटक, पर्यटन के लिये पहचाने जाने वाले राज्यों के साथ ही मध्यप्रदेश को भी तरजीह दे रहे हैं. पर्यटन मंत्री ने कहा कि प्रदेश में पर्यटन अधोसंरचना तथा पर्यटक सुविधाएँ विकसित की जा रही हैं. एयर कनेक्टिविटी तथा रोड ट्रांसपोर्ट पर भी विशेष ध्यान दिया गया है. श्री पवार ने कहा कि राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय-स्तर पर व्यापक प्रचार-प्रसार भी किया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि प्रदेश में पर्यटक संख्या में भी वृद्धि हुई है. उन्होंने बताया कि पर्यटकों को बेहतर गुणवत्ता तथा व्यवहार के साथ सुविधाएँ उपलब्ध करवाई जा सकें, इसके लिये भोपाल के बाद हॉस्पिटिलिटी ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट की स्थापना जबलपुर तथा इंदौर में की जा रही है. पर्यटन मंत्री ने बताया कि इस वर्ष 20 बस और नये गंतव्य-स्थलों पर शुरू की जा रही हैं. पवार ने बताया कि पर्यटन अधोसंरचना तथा सुविधाओं को विकसित किये जाने के उद्देश्य से करीब 50 करोड़ खर्च किये जायेंगे. उपाध्यक्ष संतोष जैन ने विश्व-पर्यटन दिवस की शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि मध्यप्रदेश पर्यटन के क्षेत्र में विकसित श्रेणी के राज्य में शामिल हुआ है. प्रमुख सचिव पर्यटन  एस.पी.एस. परिहार ने कहा कि पर्यटन को बढ़ावा देने के लिये हर-संभव प्रयास किये जा रहे हैं.

उन्होंने कहा कि इसके लिये एडवेंचर स्पोर्ट्स, वॉटर स्पोर्ट्स, धार्मिक-पर्यटन, पुरातात्विक तथा ऐतिहासिक महत्व के स्थलों पर और सुविधाओं का विस्तार तथा बजट होटल को बढ़ावा दिया जायेगा. श्री परिहार ने पर्यटन नीति में किये गये संशोधन का उल्लेख करते हुए कहा कि पर्यटन को उद्योग का दर्जा दिया जाना, हेरीटेज होटल के लिये अनुदान के अंतर्गत निजी स्वामित्व वाले भवनों को हेरीटेज होटल में बदलना शामिल है. उन्होंने कहा कि मुम्बई तथा दिल्ली में हुए रोड-शो में निवेशकों ने मध्यप्रदेश में निवेश में रुचि दिखाई है.

प्रबंध संचालक राघवेन्द्र सिंह ने कहा कि प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिये तीन बातों जागरूकता,अधोसंरचना तथा मार्केटिंग का पालन किया जा रहा है. एक्जीक्यूटिव काउंसिल कमेटी के सदस्य होटल और रेस्टॉरेंट सुनीत कोठारी तथा अध्यक्ष एडवेंचर टूर एण्ड ट्रेवल्स तेजवीर आनंद ने भी अपने विचार रखे. उन्होंने राज्य सरकार द्वारा पर्यटन को बढ़ावा देने के लिये उठाये गये कदमों की सराहना करते हुए पर्यटन को उद्योग का दर्जा दिये जाने को स्वागत योग्य बताया. उन्होंने कारवाँ-पर्यटन, एयर-कनेक्टिविटी, मोबाइल-गाडड, पर्यटन-नीति, टी.व्ही. चैनल, विभिन्न भाषाओं के ब्रोशर के प्रकाशन आदि की प्रशंसा की. उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश की पर्यटन-नीति का अन्य राज्य अनुसरण करने की ओर अग्रसर हैं.

राज्य-स्तरीय टूरिज्म अवार्ड से सम्मानित
समारोह में पर्यटन के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाली संस्थाओं तथा व्यक्ति विशेष को मध्यप्रदेश पर्यटन पुरस्कार से सम्मानित किया गया. इसके साथ ही पर्यटन निगम के अधिकारी तथा कर्मचारियों को उत्कृष्ट कार्यों के लिये भी पुरस्कृत किया गया. समारोह में भोपाल कलेक्टर निकुंज श्रीवास्तव को एडवेंचर स्पोर्ट्स को बढ़ावा देने तथा टूरिस्ट फ्रेंडली कलेक्टर के मध्यप्रदेश टूरिज्म अवार्ड से सम्मानित किया गया. मध्यप्रदेश स्टेट टूरिज्म अवार्ड से सम्मानित होने वाले निगम के कर्मियों में बेस्ट यूनिट का अवार्ड मालवा रिसार्ट माण्डव के मो. इलियास ने तथा ब्राण्ड एम.पी.टी. यूनिट तवा रिसार्ट के आबिद खान ने प्राप्त किया. निगम के अन्य पुरस्कृत होने वाले कर्मियों में सर्वश्रेष्ठ वरिष्ठ प्रबंधक का अवार्ड के.एल. पटेल को, सर्वश्रेष्ठ स्वागतकर्त्ता अरविंद शर्मा, सर्वश्रेष्ठ स्टुवर्ड/हेड वेटर सुरेश खन्ना, सर्वश्रेष्ठ कुक श्री जे.बी. बहादुर, सर्वश्रेष्ठ किचन हेल्पर श्री श्यामलाल, सर्वश्रेष्ठ सफाईकर्मी श्री सुंदरलाल, सर्वश्रेष्ठ माली श्री प्रकाश प्रजापति, सर्वश्रेष्ठ पर्यटन अधिकारी राजेश श्रीवास्तव, सर्वश्रेष्ठ भृत्य बीरबल बाली, सर्वश्रेष्ठ वाहन चालक जे.के. तिवारी, सर्वश्रेष्ठ विपणन अधिकारी सुश्री दीपिका राय चौधरी, सर्वश्रेष्ठ लेखापाल श्रीमती अनसम्मा डेनियल, सर्वश्रेष्ठ अभियंता दिलीप श्रीवास्तव, सर्वश्रेष्ठ सहायक ग्रेड-1 आर.के. तिवारी तथा मोहन लाल वर्मा, बेस्ट एम.पी.टी. परफार्मर एम.एन. जमाली तथा बेस्ट मार्केटिंग एक्जीक्यूटिव असिस्टेंट दिलीप पिंजरकर को स्टेट टूरिज्म अवार्ड से सम्मानित किया जाना शामिल है.

खेल अकादमी में विश्व पर्यटन सप्ताह का समापन
विश्व पर्यटन सप्ताह का आज यहाँ खेल विभाग की डी.एस.वाय.डब्ल्यू. अकादमी में रंगारंग समापन हुआ. इस दौरान अकादमी द्वारा विभिन्न कार्यक्रम किये गये. इनमें नुक्कड़ नाटक, वृक्षारोपण, हवाई-अड्डा भ्रमण, क्विज प्रतियोगिता और फन-गेम आदि का आयोजन किया गया.

समापन पर अकादमी के विद्यार्थियों ने ‘क्लीन भोपाल’ तथा ‘ग्रीन भोपाल’ नाटक का मंचन किया. इसके पश्चात क्विज प्रतियोगिता हुई. इसमें एक्सीलेंस कॉलेज एवं डी.एस.वाय.डब्ल्यू. अकादमी के बच्चों ने भागीदारी की. क्विज काम्पटीशन को एक्सीलेंस कॉलेज के बच्चों ने जीता. प्रतियोगिता में कॉलेज के दीपेश, शक्ति शुक्ला, रोहित तथा मोहनीश ने भाग लिया. विद्यार्थियों द्वारा आकर्षक रंगोली भी बनाई गई. विजेता प्रतियोगियों को ट्रॉफी देकर पुरस्कृत किया गया.

Related Posts: