भोपाल,17 अप्रैल. प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ताओं अभय दुबे, नरेन्द्र सलूजा और शेख अलीम ने आज जारी संयुक्त बयान में कहा है कि शुक्रवार को इंदौर के राजेन्द्र नगर थाने की पुलिस ने शराब माफि या लालू को बड़े पैमाने पर अवैध शराब बेचने के आरोप में गिरफ्तार किया था.

लालू भाजपा के विधायक एवं भारतीय युवा मोर्चा के अध्यक्ष जीतू जिराती का करीबी बताया गया है. विधायक जिराती ने पहले लालू को छोडऩे के लिए सीएसपी दिलीपसिंह तोमर को फोन किया, किंतु सीएसपी ने यह कहकर उसको छोडऩे से इंकार कर दिया कि लालू पर कई आपराधिक प्रकरण दर्ज हैं.तब गुस्साए जिराती शराब माफि या लालू को छुड़वाने के लिए अपने समर्थकों की भारी भीड़ लेकर थाने जा धमके. राजेन्द्र नगर थाने में काफी हंगामा होने पर लालू को जमानत पर छोड़ दिया गया. सत्तारूढ़ भाजपा नेता को सीएसपी की यह कर्तव्यपरायणता खटक गई और उन्होंने मुख्य मंत्री से चर्चा करके सीएसपी दिलीपसिंह तोमर को पुलिस मुख्यालय में अटैच करवा मजा चखा दिया.

इस तरह पुलिस पर माफिया की जीत की यह एक और नजीर प्रदेश में कायम हो गई.कांग्रेस प्रवक्ताओं ने कहा है कि इंदौर का यह ऐसा मामला नहीं है कि उसको एक मामूली प्रशासनिक मामला मानकर नजर अंदाज कर दिया जाए. दरअसल प्रदेश में विभिन्न स्तरों पर भाजपा नेताओं का प्रशासन के रोज के कामकाज में बेजा हस्तक्षेप इतना अधिक बढ़ गया है कि पुलिस थाने हों या कोई अन्य सरकारी दफ्तर, अधिकारियों का नियम-कायदे ंके अनुसार काम करना अत्यंत कठिन हो गया है.

Related Posts: