नई दिल्ली, 11 जून. वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी की राष्ट्रपति की दावेदारी पर ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस को छोड़कर यूपीए के सभी घटक दल हरी झंडी दिखा चुके हैं।

कांग्रेस का शीर्ष नेतृत्व प्रणव मुखर्जी के नाम का औपचारिक रूप से ऐलान करने से पहले ममता की सहमति भी चाहता है।बताया जा रहा है कि बंगाल को विशेष आर्थिक पैकेज देकर ममता को मनाया जा सकता है। इस बारे में पश्चिम बंगाल के वित्त मंत्री अमित मित्रा और वित्त मंत्री प्रणव मुखर्जी की दिल्ली में मुलाकात होने वाली है। दरअसल, प्रणव की मित मित्रा की मुलाकात पहले से तय नहीं थी। इसलिए कहा जा रहा है कि ये मुलाकात पश्चिम बंगाल को विशेष आर्थिक पैकेज देने के बहाने वास्तव में ममता को राजी करने की कोशिश है। केरल को भी पैकेज देने का प्रस्ताव है, जिससे विपक्ष यह न कह सके कि राष्ट्रपति चुनाव के मद्देनजर ममता बनर्जी को मनाने के लिए सिर्फ बंगाल को आर्थिक पैकेज दिया गया है।

इस बीच, कांग्रेस की बंगाल इकाई ने ममता बनर्जी से अपील की है कि वह प्रणव मुखर्जी को समर्थन देने का ऐलान करें। पैकेज मिलने की संभावना को देखते हुए ममता का रुख नरम पडऩे लगा है। उन्होंने संकेत दिया है कि वह कांग्रेस के उम्मीदवार का विरोध नहीं करेंगी। गौरतलब है कि ममता पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री बनने के बाद से ही राज्य के लिए विशेष आर्थिक पैकेज की मांग कर रही हैं, लेकिन उन्हें केंद्र से कोई सहायता नहीं मिली। सूत्रों का कहना है कि यही प्रणव से ममता की नाराजगी की एक बड़ी वजह भी यही है। जाहिर है पश्चिम बंगाल के वित्त मंत्री से मिलकर प्रणव दा ममता की नाराजग़ी को दूर करने की कोशिश करेंगे।

मुलायम ने नहीं खोले पत्ते

राष्ट्रपति चुनाव के मसले पर समाजवादी पार्टी ने अपना रूख अभी साफ नहीं किया है। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने कहा कि राष्ट्रपति पद के चुनाव के संबंध में उम्मीदवारों की आधिकारिक घोषणा के बाद ही अपने समर्थन पर निर्णय करेंगे। समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह यादव ने आज कहा है कि उम्मीदवार तय होने के बाद ही समाजवादी पार्टी अपना रूख साफ करेगी। उन्होंने कहा कि हमलोग सच्चर कमेटी की सिफारिशों का समर्थन करते हैं।

मुलायम ने कहा कि नौकरशाह उम्मीदवार होगा तो उसके पक्ष में हम नहीं होंगे। मुलायम सिंह यादव ने कहा कि केंद्रीय वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी की उम्मीदवारी के बारे में हमें पता नहीं है कि लेकिन उम्मीदवार सामने आने के बाद ही हम फैसला करेंगे।

Related Posts: