राम का जन्म होते ही झूमे भक्त कथा का चौथा दिन

गांधीनगर 23 मई (संवाददाता) गांधीनगर के समीपस्थ सात दिवसीय रामकथा के चौथे दिन मंगलवार को भगवान राम का जन्म हुआ. जैसे ही भगवान श्री राम का जन्म हुआ भक्त झूम उठे और भक्ति में डूब गये.

इस अवसर पर उपस्थित सैकडो ग्रामीणों को रामकथा के दौरान पं. प्रेमनारायण शर्मा ने कहा कि ईश्वर की भक्ति से ही मनुष्य का जीवन का उद्धार होता है. इसलिए मनुष्य को चाहिए कि वह ईश्वर की भक्ति में डूब जाए जिससे वह अपना जीवन सार्थक कर सके उन्होने आगे कहा है कि ईश्वर की भक्ति से ही मनुष्य के सारे दुख दूर होते है. कथा के चौथे दिन बडी संख्या में ग्रामीण कथा सुनने पहुंचे थे. जहां दोपहर बारह बजे से चार बजे तक कथा का लोगो ने आनंद उठाया. राम की वेशभूषा में वीरेन्द्र गोस्वामी ने भूमिका निभाई.

Related Posts: