मुंबई. दुनिया भर के बाजारों से मिल रहे कमजोर संकेतों और निवेशकों द्वारा की जा रही बिकवाली के चलते बाजार में उतार चढ़ाव का रुख देखने को मिला। हालांकि बाजार मामूली तेजी के साथ बंद हुए। सेंसेक्स 21 अंक तेज होकर 17,244 के स्तर पर और निफ्टी 9 अंक तेज होकर 5,244 के स्तर पर बंद हुआ।

वहीं अन्य एशियाई बाजार भी मिलेजुले रुख के साथ बंद हुए। जहां एक ओर जापान का निक्केई और हैंगसेंग गिरावट के साथ बंद हुए तो दूसरी शांघाई और ताईवान के बाजारों में तेजी दर्ज की गई। यूरोपीय बाजारों की शुरूआत भी धीमी रही। एफटीएसई, सीएसी और डैक्स जैसे प्रमुख यूरोपीय बाजार गिरावट के साथ कारोबार कर रहे हैं। घरेलू बाजारों में रैनबैक्सी, बीएचईएल, अंबुजा सीमेंट, गेल इंडिया और बीपीसीएल के कारोबार में 2 से 3 फीसदी तक की गिरावट दर्ज की गई। जबकि टाटा पावर, टाटा मोटर्स, आर कॉम, कोटक बैंक और एचयूएल के कारोबार में तेजी है। एफएमसीजी सूचकांक करीब 2 फीसदी की तेजी के साथ बंद हुआ। ऑटो, बैंकेक्स और रियल्टी सूचकांकों में मामूली तेजी दर्ज की गई। जबकि कैपिटल गुड्स, मेटल, आईटी, ऑयल ऐंड गैस इंडिसेज में गिरावट दर्ज की गई।

केयर्न बढ़ा सकेगी उत्पादन

नई दिल्ली. केयर्न इंडिया को राजस्थान के बाड़मेर क्षेत्र में मंगला तेल प्रखंड से तेल की निकासी बढ़ाने के संबंध में महत्त्वपूर्ण मंजूरियां मिल गई है और अंतिम मंजूरी की औपचारिकता कुछ दिनों में मिल जाने की उम्मीद है।

औपचारिकता पूरी होने के बाद कंपनी मंगला ऑयल फील्ड से हर रोज और 25,000 बैरल तेल की निकासी कर सकेगी और वहां के दैनिक उत्पादन का स्तर 1,50,000 बैरल तक पहुंच जाएगा। जानकार सूत्रों ने कहा कि राजस्थान ब्लॉक के दैनिक कामकाज को देखने वाली परिचालन समिति ने मंगला प्रखंड से उत्पादन बढ़ाने के प्रस्ताव को 30 मार्च को मंजूरी दे दी।

Related Posts: