मुंबई. खराब विदेशी संकेतों और रुपये में कमजोरी ने बाजार पर दबाव बनाए रखा। सेंसेक्स 104 अंक गिरकर 17679 और निफ्टी 36 अंक गिरकर 5350 पर बंद हुए। दिग्गजों के मुकाबले मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में ज्यादा बिकवाली आई। मिडकैप और स्मॉलकैप शेयर 1.5-1 फीसदी टूटे।

रियल्टी शेयर 2.5 फीसदी लुढ़के। बैंक, कैपिटस गुड्स, मेटल, पावर, आईटी शेयर 2-1 फीसदी टूटे। तकनीकी, पीएसयू, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, ऑटो 0.75-0.5 फीसदी गिरे। हेल्थकेयर शेयर 0.2 फीसदी फिसले। ऑयल एंड गैस शेयर 0.3 फीसदी और एफएमसीजी शेयर 0.2 फीसदी मजबूत हुए।

बाजार की चाल-साफ अंतर्राष्ट्रीय संकेतों के अभाव में बाजार सुस्ती के साथ खुले। शुक्रवार को यूरोजोन पर चिंता कम होने और तीसरे राहत पैकेज की उम्मीद से अमेरिकी बाजार 0.5 फीसदी चढ़े। वहीं, मजबूत शुरुआत के बाद एशियाई बाजारों में गिरावट आई। शुरुआती कारोबार में बाजार में खरीदारी बढ़ती नजर आई। हालांकि, निफ्टी 5400 के स्तर के नीचे बना रहा। लेकिन, अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये के 55.6 के स्तर तक गिरने से बाजार फिसल गए। कारोबार के पहले 2 घंटों में बाजार में उतार-चढ़ाव नजर आया। रियल्टी और बैंक शेयरों में भारी बिकवाली ने बाजार पर दबाव बनाया। ऑयल एंड गैस शेयरों में खरीदारी आने से बाजार की गिरावट पर लगाम लगी।

यूरोपीय बाजारों के कमजोरी पर खुलने से घरेलू बाजारों में निराशा बढ़ी। यूरोपीय बाजारों में गिरावट कम होने और रुपये के 55.5 के स्तर पर लौटने से घरेलू बाजार निचले स्तरों से संभले। हालांकि, दोपहर 2 बजे के बाद बाजारों ने नीचे का रुख किया। सेंसेक्स 121 अंक टूटा और निफ्टी 5350 के नीचे लुढ़क गया। यूरोपीय बाजारों में भी बिकवाली बढ़ी। रुपये भी फिर से 55.6 के स्तर पर पहुंच गया।

क्या चढ़ा, क्या गिरा- पंजाब नेशनल बैंक के शेयरों में 5 फीसदी की भारी गिरावट आई और शेयर 52 हफ्तों के निचले स्तर पर पहुंचा। कोयला घोटाले पर संसद में हंगामा जारी रहने की वजह से जिंदल स्टील, अदानी पावर, मोनेट इस्पात 5-2 फीसदी टूटे। रिलायंस पावर 3 फीसदी और जीएमआर इंफ्रा 5 फीसदी लुढ़के। 2 पोर्ट प्रोजेक्ट्स में हिस्सा लेने पर रोक लगाए जाने के बाद लैंको इंफ्रा, अदानी पोर्ट, पुंज लॉयड 6-3.5 फीसदी लुढ़के। आईएफसीआई में दूसरे दिन भी गिरावट जारी है और शेयर 5.5 फीसदी टूटा।

चीन की स्विचगियर यूनिट बंद करने का फैसले के बाद एलएंडटी के शेयरों में 2 फीसदी की कमजोरी हुए। भारती इंफ्राटेल का आईपीओ आने की खबर से भारती एयरटेल 2 फीसदी से ज्यादा चढ़ा था। हालांकि, मुनाफावसूली की वजह से शेयर 0.25 फीसदी की तेजी पर बंद हुआ।डार्लिंग होल्डिंग्स की 3 कंपनियों में 51 फीसदी हिस्सा खरीदने की खबर से गोदरेज कंज्यूमर 1.5 फीसदी चढ़ा। बोर्ड के प्रोमोटर ग्रुप और स्ट्रैटेजिक निवेशकों को को 60 रुपये प्रति शेयर के भाव पर 3.35 करोड़ शेयर जारी करने की मंजूरी के बाद रोहित फेरो टेक के शेयर 8.5 फीसदी मजबूत हुआ।

अंतर्राष्ट्रीय संकेत-मजबूत शुरुआत के बाद एशियाई बाजारों पर बिकवाली हावी हुई। शंघाई कंपोजिट 1.75 फीसदी से ज्यादा टूटा। हैंग सैंग, स्ट्रेट टाइम्स, कॉस्पी, ताइवान इंडेक्स, सिंगापुर निफ्टी में भी कमजोरी दिखी। हालांकि, निक्केई हरे निशान में बंद हुआ। शुक्रवार की सुस्ती के बाद आज यूरोपीय बाजारों ने गिरावट के साथ शुरुआत की। हालांकि, फिलहाल यूरोपीय बाजारों में सुस्ती नजर आ रही है। अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये में कमजोरी है। 55.53 पर खुलने के बाद रुपया 55.64 तक फिसला है।कच्चे तेल में 1 फीसदी की तेजी है। सोने वायदा ने नया रिकॉर्ड बनाया है। चांदी में भी मजबूती के साथ कारोबार हो रहा है। कॉपर भी हल्की तेजी है।

Related Posts: