सपा प्रदेशाध्यक्ष अखिलेश ने कहा- माया सरकार को उखाड़ फेंकेंगे

लखनऊ, 24 अक्टूबर. रथयात्रा व साइकिल यात्राएं कर चुनाव प्रचार में जुटी सपा ने एलान किया है कि जब तक मायावती सरकार को उखाड़ नहीं लेते, क्र्रान्तिरथ का पहिया नहीं रूकेगा। सपा प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मायावती सरकार के खिलाफ और भी व्यापक आंदोलन छेडऩे की घोषणा की है।

श्री यादव ने यात्रा के पांचवें चरण में तीसरी बार साइकिल यात्रा नोएडा से आगरा तक पूरी की। उन्होंने कहा कि सपा ने साइकिल यात्राएं कर प्रदेश सरकार के खिलाफ जो अभियान छेड़ा है वह तब तक चलता रहेगा जब तक की मायावती सरकार विदा नहीं हो जाती। उन्होंने कहा कि सपा में इस सरकार के खिलाफ आग है वह तभी थमेगी जब मायावती सरकार को बेदखल कर लेंगे। अखिलेश यादव ने कहा कि इस सरकार ने समाज के हर वर्ग को पीडि़त किया है।

प्रदेश में कमीशबाजी का खुला खेल चल रहा है। स्थिति यह है कि बिना कमीशन लिए कोई निर्माण कार्य नहीं हो रहा है। अखिलेश यादव ने इलाहाबाद हाईकोर्ट द्वारा नोएडा के किसानों की कृषि भूमि के जबरन भूमि अधिग्रहण को रद्द करने का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि न्यायालय ने तो किसानों को राहत दे दी लेकिन सरकार अभी भी उनके पीछे पड़ी है। सपा नेता ने कहा कि इससे साफ है कि यह सरकार अपने निजी फायदे के लिए बड़े बिल्डरों को फायदा पहुंचा रही है।

सपा व भाजपा के बाद अब रालोद की रथ यात्रा

लखनऊ। विधानसभा चुनाव को देखते हुए राजनीति दलों में चुनावी यात्राएं करने की होड़ मची है। सपा व भाजपा के बाद अब रालोद भी प्रदेश भर में यात्रांए शुरू करने जा रहा है। कांग्रेस का साथ मिलने के बाद रालोद अब खुद को और ताकतवर महसूस कर रही है जिसके साथ ही उसने ऐलान कर दिया कि है कि पार्टी जल्द यात्राएं निकालकर जनसम्पर्क करेगी। रालोद महासचिव व प्रवक्ता अनिल दुबे के मुताबिक रालोद महासचिव जयन्त चौधरी के नेतृत्व में पार्टी चुनावी यात्राएं शुरू करेगा। उन्होंने बताया कि रालोद ‘चौधरी अजित सिंह आपके द्वार थीम पर अभियान शुरु करेगी। रालोद का यह अभियान पश्चिमी उत्तर प्रदेश से शुरू होगी। अभियान के प्रथम चरण में पश्चिमी उत्तर प्रदेश के छह मण्डलों के सभी जनपदों का जयन्त चौधरी सड़क मार्ग से दौरा करेंगे। इस दौरान सभी मण्डल मुख्यालय पर बड़ी रैली आयोजित की जायेगी। इस मण्डलीय रैलियों को रालोद अध्यक्ष चौ. अजित सिंह स बोधित करेंगे। उन्होंने बताया कि अभियान के प्रथम चरण की शुरुआत 11 नव बर को तथा समापन 25 नव बर को किया जायेगा।

अभियान के द्वितीय, तृतीय और चतुर्थ चरण पूर्वी, मध्य उत्तर प्रदेश व बुंदेलखण्ड में जयन्त चौधरी का सड़क मार्ग से दौरा होगा। रालोद का यह अभियान किसानों की समस्याओं पर केन्द्रित होगा। उन्होंने कहा कि किसान की कई समस्याएं हैं, तमाम आंदोलनों के बावजूद उनकी मूल समस्याओं का निदान नहीं हो पा रहा है। उन्होंने कहा कि रालोद एक बार फिर किसानों के हितों के लिए सड़कों पर उतरेगा। दुबे ने बताया कि खाद की कमी, गन्ना मूल्य निर्धारण, बिजली आपूर्ति तथा नहरों की सफाई, महंगाई आदि समस्याओं को लेकर प्रदेश के सभी जिला मुख्?यालयों पर चार नव बर को धरना प्रदर्शन करने तथा पूर्व प्रधानमंत्री स्व. चौ. चरण सिंह की जयन्ती 23 दिस बर को किसान दिवस के रुप में प्रदेश की सभी ग्राम सभाओं में मनाने का निर्णय लिया गया। वहीं कांग्रेस के साथ गठबन्धन के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि रालोद व कांग्रेस में गठबन्धन लगभग तय है इसकी विधिवत घोषणा होना बाकी है। उन्होंने यह भी कहा कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में रालोद का प्रभाव है, जिसका फायदा चुनाव में कांग्रेस को मिलेगा।

Related Posts: