भोपाल, 15 नवंबर. माध्यमिक शिक्षा मंडल म.प्र. भोपाल द्वारा वर्ष-2012 में आयोजित की जाने वाली हाईस्कूल/हायर सेकेण्डरी परीक्षा की तैयारियों के संबंध में मंडल मुख्यालय में जिले की समन्वयक संस्था के प्राचार्यों एवं जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के परीक्षा प्रभारियों की संयुक्त बैठक आयोजित की गई.

बैठक में प्रमुख रूप से वर्ष 2012 में आयोजित होने वाली हाईस्कूल/हायर सेकेण्डरी की परीक्षाओं के परीक्षा केंद्र निर्धारण की व्यवस्था को लेकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये गये. परीक्षा केंद्रों का निर्धारण जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित चयन समिति द्वारा ही किया जायेगा. चयन समिति में जिला कलेक्टर अध्यक्ष, पुलिस अधीक्षक सदस्य, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सदस्य, प्राचार्य शा. उत्कृष्ट उमावि (समन्वयक संस्था) सदस्य, संभागीय अधिकारी मा.शि. मंडल सदस्य, जिला शिक्षा अधिकारी/सहायक आयुक्त/जिला संयोजक, आदिम जाति कल्याण विभाग सदस्य सचिव होंगे. प्रस्तावित परीक्षा केंद्रों की सूची मंडल कार्यालय को तैयार कर 30 नवंबर तक दी जायेगी.

परीक्षा केंद्रों का प्रस्ताव प्रेषित करने के पूर्व जिला योजना समिति से अनुमोदन करवाया जायेगा ताकि जिले के जन प्रतिनिधियों की राय का समावेश भी प्रस्ताव में किया जा सके. तत्पश्चात् सुनिश्चित किया जाये कि किसी भी दशा में एक बार प्रस्ताव भेजने की दशा में उसमें परिवर्तन/संशोधन की स्थिति नहीं बने. परीक्षा केंद्रों पर बैठने के लिये पर्याप्त फर्नीचर, पीने के पानी की व्यवस्था, प्रसाधन कक्ष, समुचित प्रकाश व्यवस्था होने पर ही परीक्षा केंद्र प्रस्तावित किया जाये. मंडल अध्यक्ष एम.के. राय ने समस्त समन्वय संस्था प्राचार्य एवं जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के परीक्षा प्रभारियों को संबोधित करते हुये यह भी बताया कि अगले वर्ष से मूल्यांकन कार्य में संलग्न समस्त मूल्यांकनकर्ताओं का भुगतान मूल्यांकनकर्ता के बैंक खातों के माध्यम से किया जायेगा. सभी मूल्यांकन केंद्र प्रभारियों को एकमुश्त राशि मंडल द्वारा उनके खाते में स्थानांतरित कर दी जावेगी. मूल्यांकनकर्ता को केवल अपना बैंक खाता क्रमांक एवं बैंक का आईएफएस नंबर देना होगा. मंडल अध्यक्ष द्वारा मूल्यांकन केंद्रों पर उप मुख्य परीक्षक द्वारा जो कि मूल्यांकनकर्ता के ऊपर सुपरवाईजर के रूप में कार्य करते हैं, को भी 10 प्रतिशत उ.पु. चैक करने का जो नियम है, पर कार्य करने हेतु निर्देशित किया गया, जिससे मूल्यांकनकर्ता द्वारा मूल्यांकन के दौरान यदि कोई उ.पु. में त्रुटि हो जाती है तो वह चैक की जा सके. बैठक में सचिव केदार शर्मा आईएएस अतिरिक्त सचिव परीक्षा नियंत्रक एवं मंडल के समस्त प्रथम श्रेणी अधिकारी उपस्थित थे.

Related Posts: