इंदौर के सियागंज में हड़कंप, अशोकनगर से 27 लाख के जर्दायुक्त पाउच जब्त

इंदौर/भोपाल, 2 अप्रैल. नवभारत टीम.  प्रदेश में तम्बाकू गुटका पाउच की बिक्री पर प्रतिबंध लागू हो जाने के बाद प्रशासनिक अमला हरकत में आ गया है।

इंदौर के सियागंज क्षेत्र में खाद्यविभाग एवं पुलिस द्वारा मारे गए छापे में लाखों का गुटखा पाउच बरामद किए गये हैं, वहीं अशोकनगर जिले में सोमवार को मारे गए छापे में गुटखा कारोबारी के गोदाम से बड़ी मात्रा में गुटका पाउच बरामद हुए हैं। अशोक नगर में सोमवार को एसडीएम आरसी मिश्रा की उपस्थिति में खाद अधिकारी राजेन्द्र मिश्रा, नपा सीएमओ शमशाद पठान, खाद एवं औषधी अधिकारी राजेश धाकड़ द्वारा छापामार कार्यवाही प्रारंभ की गई। रामसेवक चौरसिया के निवास पर  लगभग 27लाख रूपये से अधिक का गुटखा पाउच बरामद किया। रामसेवक चौरसिया के निवास पर स्थित गोदाम पर करीब चार कमरे गुटखा पाऊचों के बंद बोरों से पूर्णरूप से भरे हुये थे। जिनकी अधिकारियों ने तलाश कर देखा तो हर कोई हैरान रह गया और इन बोरों के अंदर विभिन्न कंपनियों के गुटखा पाऊच मिले। जिनकी कीमत करीब 27 लाख रूपये के लगभग आंकी गई है। इन सभी सामग्री को जप्त कर प्रशासन द्वारा मौके पर बुलाये गये नगरपालिका ट्रेक्टर ट्राली में रखकर संबंधित विभाग में जप्ती हेतु भेज दिया गया है।

स्टॉक किया माल
इस कार्यवाही से लगता है कि प्रदेश में एक अप्रैल से गुटखा पाऊचों पर लगाये गये प्रतिबंध के कारण गुटखा विक्रेताओं द्वारा मोटी रकम कमाने के लिये पहले से ही गुटखा पाऊचों की कालाबाजारी करते हुये अपने घरों एवं गोदामों में माल भरकर रख लिया गया है, जिसे चोरी छिपे बेचना चाहते थे। परंतु प्रशासन द्वारा अब इन दुकानों के साथ-साथ इन दुकान संचालकों के गोदामों पर भी नजर डाली जा रही है।

दुकानदारों में मचा हड़कंप-

इस कार्यवाही के बाद शहर के गुटखा पाऊचों के दुकान दारों में हड़कंप मच गया। और कई छोटी-मोटी पान मसालों की गुमठियों से लेकर बड़े दुकानदारों ने भी अपनी दुकानों की शटर गिराकर दुकानों को बंद कर दिया। अब इस बात से आशंका जाहिर होती है कि प्रतिबंध के बावजूद भी चोरी छिपे शहर में गुटखा पाऊचों की बिक्री की तैयारी दुकानदारों ने कर ली है। वहीं इस कार्यवाही के बाद प्रशासन द्वारा शहर की अन्य दुकानदारों पर भी छापामार कार्यवाही किये जाने की खबर है।

इनका कहना है-
राजश्री गुटखा के 88 बंडल एवं शेखवहार गुटखा के 19 बंडल जप्त किये। तथा खाद्य सुरक्षा मानक विनिमय अधिनियम 2011 के तहत जप्त कर कार्यवाही की गई, जिसकी अनुमानित कीमत लगभग 27 लाख रूपये  के लगभग आंकी गई।
आरसी मिश्रा, स्थानीय प्रशासक

म.प्र. शासन द्वारा प्रतिबंधित पान मसाला और गुटखा पाउच जर्दायुक्त पूर्णत: प्रभाव से बर्जित है। इनका व्यापार करने वाले छोटे-बडे व्यापारियों के यहां यदि उक्त सामग्री पाई जाती  है। तो इसी प्रकार नियम अनुसार कार्यवाही होगी।
शमशाद पठान
,नपा सीएमओ,अशोकनगर

Related Posts: