वड़ोदरा, 29 जनवरी. आध्यात्मिक गुरु भैयूजी महाराज ने कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी और काग्रेस महासचिव राहुल गांधी के बीच कोई तुलना नहीं हो सकती और मोदी ने अपने राज्य के विकास के साथ पहले ही अपनी क्षमता साबित कर दी है.

उन्होंने कहा, मोदी और राहुल गांधी के बीच कोई तुलना नहीं हो सकती. मोदी ने अपनी क्षमता साबित कर दी है जबकि राहुल गांधी को अभी इसे साबित करना है. मोदी में देश का प्रधानमंत्री बनने की क्षमता है. भैयूजी महाराज ने गुजरात और मुख्यमंत्री दोनों की तारीफ की. वह पिछले साल लोकपाल पर सरकार और अन्ना हजारे की टीम के बीच बने गतिरोध को सुलझाने के दौरान मध्यस्थ के रूप में उभरे थे.

मोदी वाले विज्ञापन से सकते में कांग्रेस

गुजरात के विकास पर विज्ञापन की शक्ल में विशेष परिशिष्ट छापकर प्रदेश कांग्रेस अपनी पहली ही चुनावी रणनीति में मात खा बैठी है. विज्ञापन को लेकर कांग्रेस का केंद्रीय और प्रदेश नेतृत्व सकते में है. गुजरात प्रदेश कांग्रेस ने सफाई देते हुए कहा कि भाजपा को व्यंग्य में भी अपनी प्रशंसा नजर आती है. जबकि, सत्तारूढ़ भाजपा उचित मौके के इंतजार में है और उसने समूचे प्रकरण पर चुप्पी साध रखी है. मुख्यमंत्री मोदी को चुनावी रणनीति का माहिर खिलाड़ी और कुशल संगठनकर्ता बताने वाले अपने विज्ञापन पर फंसने के बावजूद कांग्रेस की प्रदेश इकाई अब भी इस पर कायम है. लेकिन, विज्ञापन को लेकर कांग्रेस आलाकमान और गुजरात कांग्रेस के पदाधिकारी हैरान हैं. कुछ लोगों को मामले को ठंडा करने के काम पर लगा दिया गया है.

इस प्रकरण में  कांग्रेस अध्यक्ष के राजनीतिक सचिव अहमद पटेल, राष्ट्रीय प्रवक्ता जनार्दन द्विवेदी, केंद्रीय मंत्री दिनशा पटेल और भरत सिंह सोलंकी आदि ने गुजरात के नेताओं से जवाब मांगा है. कांग्रेस की प्रदेश चुनाव प्रचार समिति के अध्यक्ष शंकर सिंह वाघेला भी विज्ञापन को लेकर खासे नाराज हैं. वाघेला ने कहा है कि चुनावी मौसम में यह सरासर गलत है और इस बारे में पार्टी नेताओं से बात की जाएगी. लेकिन, विज्ञापन पर कायम प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता मनीष दोशी ने कहा, सूबे के विकास में सभी मुख्यमंत्रियों का योगदान है. मोदी इसका अकेले श्रेय लेने का प्रयास कर रहे हैं. विज्ञापन में कुछ बातें कटाक्ष रूप में कही गई हैं, जिसे मीडिया में गलत तरीके से प्रचारित किया गया. कांग्रेस ने मोदी पर हमला बोलते हुए कहा, भाजपा का साथी दल जद-यू मोदी को बिहार में नहीं आने देता. दुनिया के बीस देश मोदी को वीजा देने से इंकार करते हैं. इतना ही नहीं पंजाब और उत्ताराखंड में हार के डर से खुद भाजपा मोदी को बुलाने से टाल रही है. ऐसे में भाजपा को कटाक्ष में भी प्रशंसा नजर आती है. इस साल के अंत में गुजरात विधानसभा के चुनाव होने हैं. ऐसे में कांग्रेस की ओर से मोदी का गुणगान वह भी विकास के मुद्दे पर हैरान करता है. राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि चुनावी रणनीति की शुरुआत में ही कांग्रेस गच्चा खा गई.

Related Posts:

सोनिया गांधी बड़े दिल वाली महिला: गौर
कांग्रेस ने उत्साहपूर्वक मनाया 131वां स्थापना दिवस
आतंकवाद पर पाकिस्तान नहीं निभा रहा सकारात्मक भूमिका : राजनाथ सिंह
बिहार में फसल बीमा योजना की अधिसूचना जारी हो : राधामोहन
अमेरिकी रक्षा मंत्री के दौरे से क्षेत्रीय सहयाेग बढ़ने की उम्मीद : जापान
अटल पेंशन योजना हुई डिजीटल