बरेली, 7  मई. नससे. उपार्जन केन्द्रों पर फैली अव्यवस्थाओं ने सोमवार को विकराल रूप धारण कर लिया. किसानों के आंदोलन पर पुलिस द्वारा चलाई गई गोली से भारकछ गांव का पूर्व सरपंच किसान हरिसिंह प्रजापति की मौत हो गई.

समस्या को लेकर किसान संघ सड़कों पर उतर आया. जिससे जिला प्रशासन द्वारा किसान आंदोलन को कुचलने के प्रयास में किसान भड़क गए. भड़के किसानों ने पुलिस के कई वाहनों को आग के हवाले कर दिया. आक्रोशित किसानों ने अपनी भड़ास पुलिस को पीट कर निकाली. आंदोलन  का बृहद रूप देख जिला प्रशासन ने हवाई फायर किए तो आंसू गैस के गोले भी छोड़े. लेकिन स्थिति को बेकाबू देखते हुए  दोपहर 4 बजे कफर्यू लगा दिया गया. पूरे घटना क्रम में तीन पुलिस जवान घायल हो गए.  समर्थन मूल्य गेहूं खरीदी में हो रही धांधली एवं बारदानों की कमी को लेकर किसान संघ पिछले पंद्रह बीस दिनों से तहसील कार्यालय के सामने धरने पर बैठा हुआ था. लेकिन कई दिन बीत जाने के बाद भी किसानों की समस्या जस की तस बनी हुई थी. समस्या से निजात न मिलने के कारण किसान संघ द्वारा सोमवार को बरेली में जंगी प्रदर्शन किया गया. जिसमें क्षेत्र भर के किसान इक्कठा होकर  प्रदर्शन करने सुबह से ही एकत्र होने लगे थे. आंदोलन की अगुवाई किसान संघ के प्रदेश अध्यक्ष शिवकुमार शर्मा एवं प्रदेश मंत्री दर्शन सिंह द्वारा की जा रही थी.

लेकिन किसानों के आंदोलन को कुचलने के लिए जिला प्रशासन ने पूरी तैयारी कर रखी थी. जिसके चलते आंदोलन का दमन भारी पुलिस बल तैनात कर करने की कोशिश की गई. लेकिन  पुलिस एवं जिला प्रसाशन की उम्मीदों पर पानी तब फिर गया जब भड़के किसानों ने पुलिस को दौड़ा-दौड़ा कर  मारना प्रारंभ कर दिया. पुलिस की ओर से लाठिया भंजी जा रही थी तो किसानों की और से भी पत्थर बरसाएं जा रहे थे. जिससे पुलिस बल ने स्थिति को नियंत्रण में लेने के लिए किसानों पर आंसू गैस के गोले छोड़े तो किसानों ने पुलिस बल के  चार वाहनों सहित तहसीलदार एवं एसडीएम व पुलिस बस को आग के हवाले कर दिया. यहां तक कि कलेक्टर  एवं पुलिस अधीक्षक की गाड़ी भी क्षतिग्रस्त हो गई. पूरे घटना क्रम में चार पुलिस कर्मी सहित एवं पत्रकार व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सुनील जैन के घायल हुए.

जांच के निर्देश- घटना की जांच के लिए अपर मुख्य सचिव इंद्रनील शंकर दानी को नियुक्त किया गया है. कल वे घटना स्थल पर जाएंगे. अब तक 35 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. भाजपा प्रदेशाध्यक्ष प्रभात झा ने पूर्व मंत्री गौरीशंकर शैजवार के नेतृत्व में 3 सदस्यीय समिति का गठन किया है.

Related Posts: