सीबीआई, आयकर, ईओडब्ल्यू की कार्रवाई

नवभारत टीम
भोपाल/ इंदौर, 15 मार्च. सीबीआई ने यूको बैंक में हुए पांच करोड रूपयों के भ्रष्ट्राचार के मामले के सिलसिले में इंदौर और कुछ अन्य शहरों के 10 स्थानों पर छापा मारा.

सीबीआई सूत्रों ने बताया कि बैंक में हुए भ्रष्ट्राचार को लेकर बैंक के तीन अधिकारियों और कुछ निजी व्यक्तियों के खिलाफ यह कार्रवाई की गयी. बैंक से फर्जी तरीके से रिण लेने के मामले में इंदौर के छह स्थानों के अलावा देहरादून,अहमदाबाद,कोलकाता और होशंगाबाद में कार्रवाई की गयी.सूत्रों ने कहा कि सीबीआई टीम आज सबेरे राजधानी से होशंगाद जहां उसे संदीप यादव नाम के शख्स की तलाश थी जो कि एक भाजपा नेता का रिश्तेदार बताया जा रहा है.बाद में शाम को सीबीआई टीम राजधानी लौट आई.

इंदौर में  ईओडब्ल्यू के छापे
इधर,राज्य आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो ने आज इंदौर के जमीन के कारोबार से जुडे एक समूह पर छापे की कार्रवाई शुरू की.ईओडब्ल्यू सूत्रों ने बताया कि समूह के ठिकानों पर कार्रवाई पुलिस अधीक्षक मनोज सिंह के नेतृत्व में की गयी. इसके ठिकानों से अनेक दस्जावेज मिले हैं. जिनकी अभी पड़ताल की जा रही है.

ल्यूपिन कंपनी की 11 शाखाओं पर इन्कम टैक्स रेड
राजधानी के निकट दवा बनाने वाली मंडीदीप स्थित ल्यूपिन कंपनी के दो फैक्ट्री सहित अन्य 11 शाखाओं पर भी गुरुवार को इन्कम टैक्स के अधिकारियों ने एक साथ धावा बोला. इस दौरान इन्कम टैक्स के अधिकारियों ने टैक्स जमा करने संबंधी मामले के जाँच पड़ताल और पूछताछ की. यह कार्यवाही देर रात्रि चली. इस कार्यवाही में क्या मिला इस बात की फिलहाल खुलासा नहीं हो सका है. आयकर विभाग की यह टीम गुरुवार सुबह मुंबई से भोपाल आई है. मंडीदीप में कंपनी को दो फैक्ट्रियां हैं. बताया जा रहा है कि कंपनी के मालिक देशबंधु गुप्ता के आवास सहित देशभर में दो दर्जन से अधिक ठिकानों पर छापे की कार्रवाई एक साथ जारी है. इंदौर दफ्तर में भी टीम के सदस्य छानबीन कर रहे हैं.

रियल स्टेट व्यवसायी के यहां छापा

इंदौर, 15 मार्च. आर्थिक अन्वेषण ब्यूरो की टीम ने बड़ी कार्रवाई करते हुए रीयल स्टेट से जुड़ी एक कपंनी पर छापा मारकर करोड़ों की हेराफेरी का मामला पकड़ा है. विभाग को शिकायत मिल थी कि रेसकोर्स रोड स्थित गुरु सांई रीयटल स्टेट के कर्ता-धर्ता ठगी कर रहे हैं. लोगों से पांच से पचास हजार रुपए पांच सालों में जमा करा लिए. न तो ब्याज सहित राशि दी और न ही प्लाट दिया. आज सुबह 11 बजे रेसकोर्स रोड स्थित दर्शन मॉल में छापा मारा, जो डायरेक्टर संतोष देवसर का है. उसके घर चंदन नगर स्थित चांदमारी के भट्टे पर भी दबिश दी गई. यहां से दस्तावेजों को बरामद कर लिया गया है. देवसर के घर में भी ऑफिस चल रहा था और पत्नी और दो बच्चों को भी उसने संचालक मंडल में शामिल कर लिया था. असल में उसे जमीन देने का लाइसेंस मिला था, लेकिन वह बीमा और प्लाट देने के नाम पर ठगी कर रहा था और उसने सैकडों लोगों को ठगकर करोडों का घोटाला किया है. प्रारंभिक पडताल में करोड़ों की धोखाधड़ी सामने आई है.

Related Posts: