नई दिल्ली, 15 मई. एलपीजी यानी घरेलू गैस अब महंगा होना तय है. लेकिन आम लोगों के लिए अच्छी खबर यह है कि फिलहाल घरेलू गैस को केवल एमपी, एमएलए और टॉप क्लास के सरकारी अधिकारियों के लिए ही महंगा किया जा रहा है.

सूत्रों के अनुसार सरकार दो चरणों में सब्सिडी कटौती की योजना बना रही है. पहले चरण में एमएलए, एमपी व टॉप क्लास के सरकारी अफसरों को रसोई गैस पर मिलने वाली सब्सिडी खत्म की जाएगी. एमपीए एमएलए व सरकारी अफसरों को अब बाजार के दाम पर 19 किलो के कमर्शियल सिलिंडर ही खरीद सकेंगे. 15 किलो का गैस सिलिंडर उन्हें नहीं मिलेगा. दूसरे चरण में, 50 हजार रुपये महीने से ज्यादा कमाने वालों के लिए रसोई गैस पर सब्सिडी खत्म की जाएगी. 19 किलो का सिलिंडर करीब 1200 रुपये का पड़ेगा. सरकार का अनुमान है कि इन दोनों चरणों को लागू करने के बाद उसे सालाना पांच हजार करोड़ रुपये तक की बचत होगी.

सब्जियों ने बढ़ाई तपिश, आसमान पर कीमतें

इन गर्मियों में सब्जियां आपका जायका बिगाडऩे वाली हैं, क्योंकि जैसे-जैसे तपशि बढ़ रही है, वैसे-वैसे इनकी कीमत का पारा भी चढ़ता जा रहा है. पिछले दो हफ्तों के भीतर कई सब्जियों की कीमतों में 4 से 5 रुपए तक का फर्क आ चुका है. हालांकि इस बीच कुछ ऐसी सब्जियां भी हैं, जिनके कीमतें कम हुई हैं. राजधानी दिल्ली की प्रमुख सब्जी मंडियों में फिलहाल जो कीमतें चल रहीं हैं, उनके मुताबिक आलू, प्याज, बंदगोभी, फूलगोभी, और मटर जैसी सब्जियों ने ग्राहकों को रुलाने की पूरी तैयारी कर ली है. इस समय आलू की कीमत 14 से 20 रुपए प्रति किग्रा चल रही है, जबकि मई की शुरुआत में यह 10 से 12 रुपए में मिल
रहा था.

इसी प्रकार प्याज 12 से 15 रुपए प्रति किग्रा, टमाटर 16 से 20 रुपए प्रति किग्रा, बंदगोभी 20 से 25 रुपए प्रति किग्रा, फूलगोभी 40 से 45 रुपए प्रति किग्रा और मटर 40 से 50 रुपए प्रति किग्रा चल रही है. वहीं करैला, बैंगन और टंिडा जैसी सब्जियों की कीमत कम हुई है.

Related Posts: