बॉलीवुड में लगभग एक दशक से अभिनय के रंग बिखेर रहे और ओम शांति ओम रॉक ऑन और राजनीति जैसी सफल फि़ल्मों में काम कर चुके अभिनेता अर्जुन रामपाल का कहना है कि अभिनय उनका पहला प्यार नहीं था क्योंकि वह सेना में काम करना चाहते थे.

रामपाल ने 2001 में आयी फि़ल्म प्यार इश्क और मोहब्बत से अपने अभिनय करियर की शुरूआत की थी. रामपाल ने कहा कि अभिनय जगत में उनका आना किस्मत से हो गया. रामपाल ने कहा, मैं हमेशा से सेना में काम करना चाहता था क्योंकि मैं सैन्य परिवेश में ही पला बढा हूं. मैंने अपने दादाजी को देश के लिए लडते देखा है और हमने हमेशा अनुशासित जीवन जिया. उन्होंने कहा, मैं अलग तरह का काम भी करना चाहता था लेकिन मुझे लगता है कि जिंदगी ने मेरे लिए अलग ही कुछ सोचा रखा था और मैं अभिनेता बन गया.

मैं रोहित बल से मिला और इस तरह मुझे माडलिंग का पहला अवसर मिला जिसके बाद मैंने कभी पीछे मुडकर नहीं देखा. मुङो अपने चुनाव पर कोई पछतावा नहीं है. हालांकि फिल्म जगत में रामपाल के शुरूआती वर्ष संघर्षपूर्ण रहे लेकिन रामपाल के अनुसार उन्होंने बुरे समय को खुद पर हावी नहीं होने दिया. 38 वर्षीय अभिनेता ने कहा, एक समय था जब मैंने अपना आत्मविश्वास खो दिया था, मैं परेशान रहता था कि कोई मुझे काम देने नहीं जा रहा. लेकिन ऐसे समय में मेरा परिवार मेरी सबसे बडी ताकत था. रामपाल ने कहा, जिस अकेली चीज ने मुझे कभी थमने नहीं दिया वह सोच थी कि मुङो उन लोगों को गलत साबित करना है जिन्हें लगता है कि मैं अभिनय नहीं कर सकता. आज मैं खुद को लेकर आत्मविश्वास से लबरेज हूं. मुझे इस बात पर गर्व है कि मुझे फiर्मूला वन जैसे बडे आयोजन में शामिल होने का मौका मिला और लेडी गागा का कार्यक्रम आयोजित करने की जिम्मेदारी दी गयी.

Related Posts: