वारदातों को अंजाम देने में सरगना की पत्नी भी मददगार, स्वीकार कीं 9 चोरियां

भोपाल, 28 नवंबर, नभासं. हबीबगंज थाना पुलिस ने पत्नी की मदद से चोरी और नकबजनी को अंजाम देने वाले सरगना को धर दबोच गिरोह का पर्दाफाश किया.

वह सूने मकानों में सेंधमारी और चोरी की वारदातों को अंजाम देता था. आरोपियों ने अब तक 9 चारी की वारदातों को पुलिस के सामने कबूल किया. साथ ही उनके पास से साढ़े तीन लाख रुपये के आभूषण एवं अन्य सामान बरामद कर लिया है. यह बात सोमवार को अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेश सिंह चंदेल ने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही. उन्होंने बताया कि 27 नवंबर को करीब 2 बजे नकबजन सलमान एवं देवा को चोरी के कम्प्यूटर व मोबाइलों सहित सांई बोर्ड 11 नंबर स्टाप के पास पकड़ा. साथ ही पूछताछ की तो हबीबगंज थाना क्षेत्र में घटित चोरी की आधा दर्जन वारदात अपने साथी अस्सू के साथ करना स्वीकार किया. आरोपी देवा जाधव (23) पिता भीखा जाधव ई-6 गौतम नगर फ्रेक्चर अस्पताल के सामने हबीबगंज निवासी है. आरोपी सलमान खान (20) पिता छुट्टन खान पी.सी. नगर झुग्गी बस्ती हबीबगंज निवासी, आरोपी अस्सू (19) पिता समील खान सांई बाबा नगर झुग्गी निवासी है. सीएसपी राजेश ङ्क्षसह भदौरिया ने बताया कि इस गिरोह का सरगना देवा, अस्सू और सलमान है. यह अपने साथ परमपाल, रहमान, शाहरुख, शंकर चड्डा और जीतू उर्फ जीतेंद्र के साथ मिलकर चोरी की वारदातों को अंजाम देते थे. पुलिस को उसके साथ आरोपियों की तलाश कर रही है.

सरगना की पत्नी थी मददगार-  गिरोह के सरगना देवा जाधव की पत्नी हर्षना घरों में काम करती है. वहीं इलाके के सूने घरों की रेकी कर मकानों की जानकारी पति देवा को देती थी. इसके उपरांत सभी आरोपियों द्वारा योजना तैयार कर मकान को निशाना बनाते थे.

आरोपियों के आपराधिक रिकार्ड-  आरोपी देवा पर 4 अपराध दर्ज हैं. सलमान पर 8 और अस्सू पर 1 अपराध दर्ज है.

Related Posts: