वाइब्रेंट गुजरात समिट में नरेंद्र मोदी की तारीफों के पुल

Modi_Ambaniअहमदाबाद, 11 जनवरी. वाइब्रेंट गुजरात समिट के पहले दिन देश और दुनिया से आए अद्योगपतियों ने प्रदेश के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफों के पुल बांध दिए। रिलायंस एडीए ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी ने तो यहां तक कह डाला कि गांधी, पटेल, धीरूभाई और मोदी गुजरात के हीरो हैं।

उनके बडे भाई मुकेश अंबानी भी पीछे नहीं रहे। अनिल अंबानी ने कहा कि मोदी के रूप में हमें विजनरी नेता मिला है। उन्होंने आगे कहा, मुझे गर्व है कि रिलायंस एक गुजराती, भारतीय और ग्लोबल कंपनी है। अनिल अंबानी ने मोदी को राजाओं का राजा करार देते हुए कहा, नरेंद्र भाई के पास विजन और लक्ष्य को लेकर अर्जुन की तरह एकाग्रता है। मोदी की नेतृत्व क्षमता की वजह से ही भारत और विदेश के उद्यमी पिछले एक दशक से गुजरात की तरफ खिंचे चले आ रहे हैं। अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी ने भी मोदी सरकार की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा, पतंग हवा के साथ नहीं, बल्कि हवा के खिलाफ ऊंची उडती है। मैं मोदी के विजन और लीडरशिप की तारीफ करता हूं। मोदी न सिर्फ चुनाव लड रहे थे, बल्कि वह वाइब्रेंट गुजरात की भी प्लैनिंग कर रहे थे।

विधानसभा चुनाव में जीत की हैट-ट्रिक लगाने वाली मोदी सरकार ने गांधीनगर के महात्मा मंदिर में अपने इस फेवरिट कार्यक्रम का आयोजन किया है। अब तक इस सम्मेलन से राज्य को निवेश के मोटे प्रस्ताव मिलते थे, लेकिन इस बार सरकार ने ज्ञान आधारित साझेदारी पर ध्यान देने का फैसला किया है। सम्मेलन में भारत से करीब 50 हजार उद्योग प्रतिनिधियों के शामिल होने की उम्मीद है। उनके अलावा 105 देशों के 1800 प्रतिनिधियों के भी आने की उम्मीद है। दो दिन के इस सम्मेलन के बाद रविवार को कारोबारियों की आपसी बैठकों और सरकार के साथ उनकी बातचीत के दौर चलेंगे।

22 देशों के 150 से ज्यादा प्रतिनिधि

गुजरात में छठा वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट आज से गांधीनगर में शुरू हो गया। मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसका उद्घाटन किया।यह सम्मेलन 13 जनवरी तक चलेगा। सरकार ने इस साल मैन्यूफैक्चरिंग, अर्बन डेवलपमेंट, सर्विस सेक्टर, फूड प्रोसेसिंग जैसे उद्योगो पर ध्यान केंद्रित किया है। इस बार समिट में जापान और कनाडा से भी प्रतिनिधि आए हैं। इस समिट में 22 देशों के 150 से ज्यादा प्रतिनिधि आए हैं।

पिछले साल के वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल समिट में 8380 एमओयू साइन किए गए थे। गुजरात सरकार राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में पूंजी निवेश को प्रोत्साहन देने के लिए साल 2003 से वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट का आयोजन कर रही है।

Related Posts: