संत रविदास महाकुंभ में शामिल हुए मुख्यमंत्री

गरीबों को स्वरोजगार के लिये कम ब्याज पर ऋण

भोपाल, 12 फरवरी. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि उज्जैन में सन्त रविदास राष्ट्रीय स्मारक संस्थान बनाया जायेगा. इसके लिये शीघ्र भूमि आवंटित कर दी जायेगी और निर्माण राशि का प्रावधान भी इसी वर्ष करेंगे. मुख्यमंत्री आज उज्जैन में सामाजिक न्याय परिसर में सन्त रविदास जयन्ती पर आयोजित महाकुंभ को सम्बोधित कर रहे थे.

राज्य शासन गरीब के उत्थान तथा उसके सम्मान की रक्षा के लिये कृत संकल्पित है. प्रदेश में फेरी लगाकर स्वरोजगार करने वालों को सामान बेचने का स्थान नियत किया जायेगा. युवाओं को स्वरोजगार के लिये गुमटियाँ दी जायेंगी. स्व उद्यम के लिये पूर्ण सहयोग शासन देगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में गरीबों के आर्थिक उत्थान के लिये उन्हें कम ब्याज पर ऋ ण देने की योजना तैयार की जा रही है. योजना में अनुदान का प्रावधान भी किया जायेगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सन्त रविदास के जीवन से प्रेरणा लेते हुए उन्नति के पथ पर आगे बढ़ें. उन्होंने सन्त रविदास के जीवन से प्रेरणा लेते हुए जनसेवा करने की बात जन-प्रतिनिधियों से कही. मुख्यमंत्री ने जनता के सुख-दु:ख से एकात्म हो जाने को कहा.

मुकेश टटवाल को मिला रविदास पुरस्कार

मुख्यमंत्री ने सन्त रविदास पुरस्कार से मुकेश टटवाल को एक लाख रूपये व प्रशस्ति-पत्र एवं प्रतीक-चिन्ह भेंटकर सम्मानित किया. मुख्यमंत्री ने कहा कि अनुसूचित जाति के उत्थान के लिये हरसंभव कार्य किया जा रहा है. अनुसूचित जाति की संख्या के मान से प्रदेश के बजट में राशि का प्रावधान किया जायेगा. इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने आव्हान किया कि समाज अपने बच्चों को बेहतर शिक्षा दिलाने के लिये आगे आये. राज्य शासन द्वारा विदेशों में अध्ययन के लिये प्रति विद्यार्थी 15 लाख रूपये खर्च करने का प्रावधान किया गया है. पढ़ाई के लिये साधनों की कमी नहीं आने दी जायेगी. मुख्यमंत्री ने यह भी आव्हान किया कि परिवार अपने बेटों के साथ-साथ बेटी को भी उतना ही प्यार दें. बेटा-बेटी में कोई भेदभाव नहीं रखें. साथ ही नशे से दूर रहें. प्रारम्भ में पूर्व सांसद डॉ. सत्यनारायण जटिया ने भी सम्बोधित किया.

समारोह में प्रदेश के आदिम-जाति कल्याण मंत्री विजय शाह, खाद्य, नागरिक आपूर्ति राज्य मंत्री पारस जैन, पूर्व सांसद थावरचन्द गेहलोत, राज्य योजना आयोग के उपाध्यक्ष बाबूलाल जैन, माखनसिंह, राज्य अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष इन्द्रेश गजभिये, राज्य पर्यटन विकास निगम के अध्यक्ष डॉ. मोहन यादव, राज्य हज कमेटी के अध्यक्ष सनव्वर पटेल, खंडवा महापौर श्रीमती भावना शाह, उज्जैन महापौर रामेश्वर अखंड, विधायक शिवनारायण जागीरदार और रोड़मल राठौर, नगर निगम सभापति श्री सोनू गेहलोत, अनुसूचित जाति मोर्चा अध्यक्ष लालसिंह आर्य उपस्थित थे.

Related Posts: