भोपाल, 20 अप्रैल. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया ने कहा है कि मध्यप्रदेश सरकार सौर ऊर्जा नीति पुन: ला रही है. इस नई नीति को बनाते समय वर्तमान में प्रभावशील सौर ऊर्जा नीति में बहुत फेरबदल किया गया है. इस फेरबदल के पीछे कुछ खास चहेते और बड़े लोगों को बड़े स्तर पर फायदा पहुंचाने का निहित उद्देश्य छिपा होने की आशंका है.

आपने कहा है कि दो-तीन बड़ी कंपनियां मध्यप्रदेश में 100 मेगा वॉट के सौर ऊर्जा संयंत्र लगाने का आश्वासन देकर 1000 एकड़ जमीन मुफ्त में हथियाने की फिराक में है. ऐसी सूचनाएं हैं कि शिवराज सरकार इन कंपनियों से, जो कि सत्तारूढ़ भाजपा के खास लोगों की बतायी जाती हैं, मुफ्त में सरकारी जमीन देने का वादा कर रही है.भूरिया ने कहा है कि भाजपा का राष्ट्रीय नेतृत्व गुजरात राज्य को उसके द्वारा शासित राज्य सरकारों के लिए आदर्श राज्य मानता है और गाहे-बगाहे अपनी अन्य राज्य सरकारों को सलाह देता रहता है. कि वे विभिन्न प्रकार की नीतियों और रणनीतियों के मामले में गुजरात का अनुसरण करें, लेकिन गुजरात एक पड़ोसी राज्य होते हुए भी म.प्र. की भाजपा सरकार न जाने क्यों इस मामले में गुजरात की नरेन्द्र मोदी सरकार से दूर भाग रही है.

कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय, के निर्माण के लिये 20 लाख
भोपाल,20 अप्रैल,उच्च शिक्षा विभाग द्वारा अटल बिहारी वाजपेयी शासकीय कला एवं वाणिज्य महाविद्यालय, इंदौर में दो कक्ष निर्माण के लिए 20 लाख स्वीकृत किए गए हैं. इस कार्य में 22 हजार रुपये जन-भागीदारी से एकत्रित किए गए हैं.

Related Posts: