गुटनिरपेक्ष सम्मेलन में भाग लेने पीएम रवाना

नयी दिल्ली, 28 अगस्त. प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मौजूदा विश्व शासन व्यवस्था ढांचे को पुराना पड गया बताते हुये आज कहा कि नयी चुनौतियों और खतरों से निपटने के लिये सामूहिक अंतरराष्ट्रीय पहल की जरुरत है.

गुट निरपेक्ष देशों के 16 वें सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिये तेहरान रवाना होने से पहले डा. सिंह ने कहा कि विश्व शासन व्यवस्था के ढांचे के कमजोर पडने से आर्थिक मंदी और सीरिया जैसी उथल.पुथल वाली चुनौतियां सामने आयी हैं.उन्होंने कहा कि आम तौर पर इस बात का एहसास किया जा रहा है कि विश्व शासन व्यवस्था समय की रफ्तार के हिसाब से खुद को नहीं बदल पायी है. डॉ. सिंह ने कहा कि वह गुट निरपेक्ष देशों के मंच से इस बात को रेखांकित करेंगे और भारत इस आंदोलन का संस्थापक सदस्य होने के नाते टकराव के बजाय सामूहिक प्रयासों को बढावा देने पर जोर देगा. प्रधानमंत्री का ईरान में सर्वोच्च नेता अयातुल्ला खमनेयी और राष्ट्रपति अहमदीनेजाद से कल मुलाकात का कार्यक्रम है.

डॉ सिंह वहां विश्व के दूसरे नेताओं से क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर विचारों.का आदान प्रदान करेंगे. दो दिन का शिखर सम्मेलन 30 अगस्त को शुरू हो रहा है जिसमें भाग लेने के लिये सौ से अधिक देशों के नेता तेहरान पहुंच रहे हैं. डा सिंह कल द्विपक्षीय बैठकों में व्यस्त रहेंगे जिसमें ईरान के राष्ट्रपति महमूद अहमदीनेजाद और वहां के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला खमनेई से उनकी मुलाकात पर पूरी दुनिया की निगाहें टिकी होंगी. क्षेत्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय महत्व की एक बडी घटना के रप में भारत. ईरान और अफगानिस्तान ने आवागमन सुविधाओं और व्यापार निवेश में वृद्धि करने तथा ईरान के चाहबहार बंदरगाह का विकास करने के उद्देश्य से एक संयुक्त कार्यदल गठित करने का रविवार को फैसला किया. अमेरिका एवं पश्चिमी देशों से प्रतिबंधों का सामना कर रहे ईरान के लिए यह बैठक एक बडी कूटनीतिक सफलता के रूप में देखी गई है. प्रधानमंत्री शिखर सम्मेलन के दौरान पाकिस्तान के राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी से मिलेंगे.

भारत और पाकिस्तान के शिखर नेताओं के बीच यह बैठक ऐसे समय होने वाली है जब हाल ही में पाकिस्तान की धरती से विभिन्न वेबसाइटों के जरिए भारत में नफरत और अफवाहों का अभियान चलाए जाने की रिपोर्टें सामने आई हैं और करीब 250 वेबसाइटों पर प्रतिबंध भी लगाया गया है. प्रधानमंत्री के रूप में डा. सिंह तीसरी बार गुटनिरपेक्ष शिखर सम्मेलन में हिस्सा ले रहे हैं. इससे पहले उन्होंने 2006 में हवाना और 2009 में शर्म.अल शेख के सम्मेलन में हिस्सा लिया था. गुट निरपेक्ष देशों के नेताओं का यह .6 वां शिखर सम्मेलन ईरान में ऐसे समय हो रहा है जब अमेरिका परमाणु हथियारों के मुद्दे पर ईरान को अंतरराष्ट्रीय मंचों पर अलग थलग करने के प्रयासों में जुटा हुआ है. ऐसे में यह सम्मेलन ईरान के मनोबल को ऊंचा उठाने में मददगार साबित हो रहा है. डा. सिंह इस दौरान बंगलादेश. नेपाल और अफगानिस्तान के नेताओं के साथ भी द्विपक्षीय बैठक करेंगे.

Related Posts: