राज्यपाल द्वारा दिगम्बर जैसवाल जैन समाज के अधिवेशन का शुभारंभ

भोपाल, 15 जुलाई, राज्यपाल राम नरेश यादव ने कहा है कि सामाजिक संगठन पहरेदार की भूमिका निभाते हुए लोगों को सामाजिक कुरीतियों से दूर रखें और एक उन्नत समाज तथा देश का निर्माण करें. उन्होंने कहा यदि सामाजिक संगठन अपने-अपने स्तर पर सामाजिक कुरीतियों को दूर करने के छोटे-छोटे प्रयास भी करें, तो एक खुशहाल और सुदृढ़ राष्ट्र बनाया जा सकता है. राज्यपाल आज यहाँ श्री दिगम्बर जैसवाल (उपरोंचिया) जैन समाज, भोपाल के दो दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन का शुभारम्भ कर रहे थे.

यादव ने कहा कि सामाजिक संगठनों को कभी भी राजनीतिक इच्छा पूर्ति का माध्यम नहीं बनाना चाहिए. श्री यादव ने कहा कि नैतिकता और सामाजिक चरित्र में दिन-ब-दिन हो रही गिरावट इस दौर की सबसे बड़ी चिंता है. नगरीय प्रशासन मंत्री बाबूलाल गौर ने कहा कि आज देश को ज्ञान और कर्मशीलता की आवश्यकता है.

एकजुट और संगठित समाज ही देश को आगे ले जा सकता है. त्याग भारत की प्राचीन परम्परा है और आज इसे जीवन का उद्देश्य बनाने की जरूरत है. श्री गौर ने जैन समाज को देश के विकास के लिए आवश्यक गुणों और विशेषताओं से समृद्धशाली समाज बताया.यादव ने समाज के विशिष्टजनों के सम्मान के तहत सहायक पुलिस महानिदेशक योजना पवन जैन और उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के सदस्य तथा वरिष्ठ

शिक्षा शास्त्री आगरा के सुनील जैन को उनकी उपलब्धियों और योगदान के लिए सम्मानित किया. सम्मानित किये जाने वालों में पुलिस अधीक्षक सिवनी राकेश जैन और पुलिस ट्रेंनिंग कालेज, इंदौर के पुलिस अधीक्षक महेश जैन भी थे, जो अपरिहार्य कारणों से कार्यक्रम में उपस्थित नहीं हो सके.कार्यक्रम के दौरान समाज के प्रतिनिधियों द्वारा राज्यपाल  यादव और नगरीय प्रशासन मंत्री बाबूलाल गौर का अभिनंदन भी किया गया.

भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी पवन जैन ने कहा कि जैन समाज भारत का सबसे साक्षर समाज है. उन्होंने कहा कि समाज में विभेद की दरारों को पाटते हुए मानवता के मंदिरों तक पहुँचना है. समाज के अल्प संख्या- बल का जिक्र करते हुए श्री जैन ने कहा कि इसके बावजूद भी समाज के लोगों ने अपनी एक पहचान बनाई है. मुख्यमंत्री ने कहा है कि दूसरों को जीतने वाला वीर होता है और स्वयं को जीतने वाला महावीर. सभी को व्यवहार में जैन बनना चाहिए क्योंकि जिसने स्वयं को जीत लिया वही जैन होता है. चौहान मानस भवन में राष्ट्रीय अधिवेशन में आए प्रतिभागियों को संबोधित कर रहे थे. मुख्यमंत्री ने अधिवेशन में शामिल दो वरिष्ठ नागरिकों श्रीमती बादामी जैन और भंवरलाल जैन का शॉल, श्रीफल से सम्मान किया. चौहान ने कहा कि जैसवाल जैन समाज उद्यमी समाज है. समाज-बंधु परिश्रम से जो भी अर्जित करते हैं, वह देश और समाज के विकास के लिए होता है. उन्होंने मध्यप्रदेश की जनता के प्रतिनिधि के रूप में प्रतिभागियों का स्वागत करते हुए कहा कि प्रदेश की सरकार समाज के साथ है. समाज के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ी जायेगी.

zp8497586rq

Related Posts: