किंग्सटाउन 14 जून. भारत ए टीम का बल्लेबाजी क्रम भले ही वेस्टइंडीज ए के खिलाफ शुरूआती दो अनधिकृत क्रिकेट टेस्ट मैच में संघर्ष करता नजर आया हो लेकिन टीम के कोच लालचंद राजपूत का कहना है कि बल्लेबाजों की तकनीक में कोई कमी नहीं है.

लालचंद ने कहा कि हमारे बल्लेबाजों की तकनीक ऐसी है कि वे सफलता हासिल कर सकते हैं. यदि वह एक बार टिक गए तो रन अपने आप बनने शुरू हो जाएंगे. बल्लेबाजों की तकनीक में कोई कमी नहीं है. भारत ए ने पहला टेस्ट दो विकेट से जीता था लेकिन दूसरे टेस्ट में उसे वेस्टइंडीज से 125 रन से हार का सामना करना पड़ा था.

दूसरे अनधिकृत टेस्ट में वेस्टइंडीज के पहली पारी में 217 रन के जवाब में भारत ए की टीम को 202 रनों पर सिमट गई थी जबकि दूसरी पारी में मेजबान टीम ने 204 रन बनाकर भारत के सामने 220 रन का लक्ष्य रखा जिसके जवाब में भारतीय टीम 94 रन ही बना सकी. टीम की ओर से केवल चेतेश्वर पुजारा ही सफल बल्लेबाज साबित हुए हैं. उन्होंने तीन अर्द्धशतकों के साथ 214 रन बनाए हैं लेकिन टीम का शीर्षक्रम नाकाम रहा है. चार पारियों में अभिनव मुकुंद ने 16 अजिंक्या रहाणे ने 28 और शिखर धवन ने 30 रन ही बनाए हैं. लालचंद ने कहा कि ओपनरों के लिए रन बनाना बहुत जरूरी है. अभी तक वे अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए हैं. हमारा बल्लेबाजी क्रम सर्वश्रेष्ठ है और खिलाडियों में अच्छा प्रदर्शन करने की काबिलियत है. उन्होंने कहा कि यहां की पिच बल्लेबाजों के लिए काफी चुनौतीपूर्ण है. यदि हमारे बल्लेबाजों को सफलता हासिल करनी है तो उन्हें इन चुनौतियों के लिए खुद को तैयार करना होगा.

Related Posts: