नई दिल्ली, 16 अप्रैल. टीवी चैनलों पर थर्ड आई ऑफ निर्मल बाबा नाम के विज्ञापन दिखाकर कृपा बरसाने का दावा करने वाले निर्मल नरूला उर्फ निर्मल बाबा पर कानून शिकंजा कसता जा रहा है।

भोपाल में जहां एक शिकायत के बाद पूछताछ के लिए बाबा को नोटिस जारी किया गया है, वहीं बिहार के मुजफ्फरपुर में उनके खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने और धोखाधड़ी की शिकायत दी गई है। मुजफ्फरपुर में वकील सुधीर ओझा ने निर्मल बाबा के खिलाफ कोर्ट में शिकायत दर्ज करवाई है। उन्होंने बाबा पर लोगों की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने और धोखाधड़ी का आरोप लगाया है। कोर्ट ने शिकायत पर नोटिस ले लिया है। जल्द ही इस पर सुनवाई हो सकती है। भोपाल पुलिस ने भी एक शिकायत के बाद निर्मल बाबा को पूछताछ के लिए नोटिस जारी किया है। शुक्रवार को हबीबगंज निवासी राजेश सेन ने बाबा के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई थी।

बेरोजगार राजेश ने कहा कि एक समागम में निर्मल बाबा ने नौकरी पाने के लिए काले रंग का पर्स रखने की सलाह दी थी। उसने ऐसा ही किया, लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ। पुलिस अधिकारी राजेश सिंह भदौरिया ने कहा कि राजेश सेन की शिकायत के बारे में पुलिस निर्मला बाबा से पूछताछ करेगी। गौरतलब है कि एक के बाद एक कई खुलासों के बाद बाबा इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की नजर में भी हैं। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के सूत्रों का कहना है कि विभाग उनकी कमाई और रिटर्न की जांच करेगा।

निर्मल बाबा की जांच हो : बीजेपी

पटना। बीजेपी के प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा है कि यह जांच का विषय है कि क्या निर्मल बाबा लोगों की आस्था को ठेस तो नहीं पहुंचा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत आस्था का देश है और अलग-अलग पूजा पद्धति और आस्था के साथ लोग एक-दूसरे को मानते हैं और यह भक्तों पर है वे किसे बाबा और किसे भगवान मानें, इसमें बीजेपी कोई राय नहीं दे सकती।

Related Posts: