लखनऊ, 26 जून. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शहरों में विकास के लिए पिटारा खोल दिया है. शहरों में बेहतर अवस्थापना सुविधा उपलब्ध कराने के साथ निर्बल और कम आय वालों के लिए अनिवार्य रूप से मकान बनाने के निर्देश दिए हैं.

वाराणसी, मुजफ्फरनगर में ट्रांसपोर्ट नगर बसाने, आगरा में आईटी पार्क और मेरठ में इनर रिंग रोड बनाने के साथ मुरादाबाद में मेडिसिनल हर्बल पार्क की स्थापना के निर्देश दिए हैं. वह विकास आवास विभाग के अधिकारियों तथा विकास प्राधिकरण उपाध्यक्षों के साथ बैठक कर रहे थे. मुख्यमंत्री ने कुंभ मेला से संबंधित परियोजनाओं की प्रत्येक 15 दिन पर समीक्षा करने के भी निर्देश दिए. मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास प्राधिकरण शहरों में अच्छा कार्य कर लोगों को बेहतर सुविधाएं तथा पर्यटन को बढ़ावा दे सकते हैं. उदाहरण के लिए गोरखपुर में रामगढ़ ताल का सौंदर्यीकरण कराने के साथ इसमें गिरने वाले सीवर को रोकने पर काम करना चाहिए. चित्रकूट में कामथगिरी पर्वत परिक्रमा मार्ग का सुदृढ़ीकरण कराया जाए. पानी की उपलब्धता के लिए रेन वाटर हार्वेस्टिंग प्रोजेक्ट कुछ शासकीय भवनों में मुफ्त में लगाए जाएंगे. नागरिकों को भी इसके लिए प्रेरित किया जाएगा.

वैकल्पिक ऊर्जा के लिए सोलर लाइट्स व सोलर वाटर हीटिंग संयंत्र को बढ़ावा दिया जाएगा. मुख्यमंत्री स्वयं प्राधिकरण के कामों का मौके पर जाकर निरीक्षण करेंगे. अखिलेश यादव ने महाकुंभ मेले की तैयारियों पर विशेष ध्यान देने को कहा. इलाहाबाद विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष से कहा कि शुरू की गई परियोजनाएं समय से पूरी कराई जाएं. वह खुद कुंभ की तैयारियों का जायजा लेंगे. मुख्य सचिव को निर्देश दिया कि मथुरा-वृंदावन में मुडिय़ा पूर्णिमा मेले की तैयारियों का जाकर जायजा ले. उन्होंने कहा कि निर्बल और कम आय वर्ग के लोगों के लिए अनिवार्य रूप से मकान बनाए जाएं. यह व्यवस्था की जाए कि इंटीग्रेटेड टाउनशिप में भी इस वर्ग के लिए अनिवार्य रूप से मकान बनाए जाएं.

मुख्यमंत्री ने कानपुर में मंधना-भौती बाईपास बनाने, ट्रांसपोर्ट नगर शहर से बाहर करने तथा रिवर फ्रंट का काम करने के निर्देश दिए. आगरा में प्रस्तावित इनर रिंग रोड, आगरा में एक पार्क का निर्माण कराने, आईटी पार्क विकसित करने, मेरठ में इनर रिंग रोड बनाने तथा ट्रांसपोर्ट नगर को शहर से बाहर ले जाने के लिए तुरंत काम शुरू करने का निर्देश दिया गया. गाजियाबाद में 100 एकड़ में फैली हसनपुर झील के सौंदर्यीकरण के साथ राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 24 के चौड़ीकरण के काम को प्राथमिकता देने का निर्देश दिया गया. गाजियाबाद विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष संतोष यादव ने बताया कि गाजियाबाद को मेट्रो से जोडऩे के लिए काम किया जा रहा है. यातायात के दबाव को कम करने के लिए दिल्ली को जोडऩे वाले तीनों राष्ट्रीय राजमार्गों को रिंग रोड से जोड़ा जाएगा. मुख्यमंत्री ने बरेली को ट्रैफिक जाम से निजात दिलाने के लिए नैनीताल तथा बदायूं रोड स्थित रेल ट्रैक पर ओवर ब्रिज बनाने तथा सहारनपुर में सड़क चौड़ीकरण का निर्देश दिया. मुरादाबाद में मेडिसिनल हर्बल पार्क की स्थापना, वाराणसी व मुजफ्फरनगर में ट्रांसपोर्ट नगर की स्थापना, रायबरेली में पर्यटन सुविधा विकसित करने तथा झांसी में आधुनिक हाट की स्थापना के साथ बांदा में कलिंजर किले के आसपास क्षेत्र को पयर्टन रूप में विकसित करने के निर्देश दिए.

Related Posts: