टीकमगढ़ जिले के ओरछा से होगी शुरु

भोपाल, 25 अप्रैल, नभासं.  विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता अजय सिंह राज्य की भाजपा शासनकाल के कथित जनविरोधी कदमों के खिलाफ 11 मई से जन चेतना यात्रा शुरु करेंगे.ये यात्रा टीकमगढ जिले के ओरछा से शुरू होगी.

सिंह ने यहां पत्रकारों से चर्चा में कहा कि जन चेतना यात्रा सभी 50 जिलों में लगभग दस हजार किलोमीटर की दूरी तय करते हुए राजधानी भोपाल में संपन्न होगी. हालाकि अभी यात्रा के समापन की तिथि निर्धारित नहीं की गयी है. उन्होंने कहा कि यात्रा के दौरान भाजपा के आठ वर्षों के कुशासन के बारे में लोगों को विस्तार से बताया जाएगा जिससे वर्ष 20.3 में होने वाले विधानसभा चुनाव में राज्य के निवासी उपयुक्त निर्णय ले सकें. वरिष्ठ कांग्रेस नेता ने कहा कि विधानसभा में राज्य सरकार के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव के दौरान उठाए गए मुद्दों को ही इस यात्रा के दौरान उठाया जाएगा जिनमें भ्रष्टाचार,अवैध खनन,कानून-व्यवस्था की बिगडती स्थिति और अन्य जनविरोधी निर्णय शामिल हैं.

उन्होंने कहा कि यात्रा की शुरुआत में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कांतिलाल भूरिया भी साथ रहेंगे .सिंह ने कहा कि ओरछा भगवान राम की नगरी है और यह बुंदेलखंड अंचल का हिस्सा है.इसलिए यात्रा वहीं से प्रारंभ करने का निर्णय लिया गया है. सीएम की दौड़ में नहीं: नेता प्रतिपक्ष ने एक सवाल के जबाव में कहा कि यात्रा का क्रम चुनाव तक रुकेगा नहीं और ये किसी न किसी प्रकार से चुनाव तक जारी रहेगा.उन्होंने कहा कि इस यात्रा के बावजूद वह सीएम पद के दावेदार नहीं है अलबत्ता उन्हें पार्टी जो पद देगी वह उस पर काम करेंगे.

गेंहू खरीदी में प्रताडऩा

अजय सिंह ने कहा कि समर्थन मूल्य पर किसानों को गेंहू की फसल बेचने के लिए काफी मशक्कत करना पड रही है और बिचौलियों की सक्रियता के कारण किसान परेशान हैं. सिंह ने कहा है कि मंडियों के आसपास बिचौलियों का व्यापार खुलेआम चलने के कारण किसानों को अपनी फसल औने-पौने दामों में बेचना पड रहा है. उनका आरोप था कि सरकार की ओर से समय पर बारदानों की व्यवस्था नहीं करने से किसानों को गेंहू खुले में छोडना पड रहा है. वहीं इस मामले को लेकर सत्तारूढ भाजपा राजनीति करने का प्रयास कर रही है. उन्होंने मंडियों में खरीद व्यवस्थाओं को पुख्ता करने बिचौलियों को हटाने और किसानों के अनाज की तत्काल खरीद सुनिश्चित की जाए. उन्होंने रायसेन, मुंगावली, शमशाबाद, पृथ्वीपुर, भोपाल, सोहागपुर. सतना, रेहटी, जबपलुर, बेगमगंज, सिवनी और पिपरिया आदि स्थानों पर व्यवस्थाओं को दुरूस्त कराने की मांग भी की.

Related Posts: