कराची, 12 अक्टूबर. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) और लंदन में मैट्रोपोलिटन पुलिस ने पिछले साल इंग्लैंड के दौरे के दौरान कथित रूप से कई पाकिस्तानी खिलाडिय़ों के स्पाट फिक्सिंग में लिप्त होने की पूरी जांच की थी और इसके बाद राष्ट्रीय टीम में उन्हें खेलने की अनुमति दी थी.

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड के अधिकारी ने कहा कि वहाब रियाज और कामरान अकमल समेत खिलाडिय़ों को पाकिस्तान के लिए खेलने के लिए तभी अनुमति दी गई थी जब आईसीसी ने पीसीबी से कहा कि उसे इनके क्रिकेटरों, पाकिस्तान के लिए खेलने से कोई आपत्ति नहीं है. साउथवार्क लंदन कोर्ट में पाकिस्तानी खिलाड़ी सलमान बट, मोहम्मद आसिफ और मोहम्मद आमिर और उनके लंदन में रहने वाले एजेंट पाकिस्तान के मजहर मजीद के खिलाफ चल रही स्पाट फिक्सिंग की सुनवाई के दौरान अदालत को बताया गया कि किस तरह से कुछ अन्य पाकिस्तानी खिलाड़ी कथित रूप से स्पाट फिक्सिंग रैकेट में मजीद के लिए काम कर रहे थे. कोर्ट में चलाई गई आडियो टेप में मजीद ने अंडरकवर पत्रकार मजहर महमूद को बताया कि उसने किस तरह से बट, आमिर और आसिफ के अलावा कई पाकिस्तानी खिलाडिय़ों को अपने कब्जे में किया तथा इस संबंध में उसने वहाबए कामरान, उमर अकमल और इमरान फरहत के नाम भी लिए.

आईसीसी ने बटए आमिर और आसिफ पर स्पाट फिक्सिंग में लिप्त होने के लिए प्रतिबंध लगा दिया था जबकि अन्य खिलाडिय़ों ने पाकिस्तान के लिए खेलना शुरू कर दिया था जिसमें से वहाब और फरहत अब भी संयुक्त अरब-अमीरात में श्रीलंका के खिलाफ होने वाली टेस्ट सीरीज के लिए घोषित की गई टीम के सदस्य हैं लेकिन पीसीबी अधिकारी ने कहा कि पिछले साल चार खिलाडिय़ों की जांच हुई थी जब मजीद ने सबसे पहले उनके नाम लिए थे. अधिकारी ने कहा कि आईसीसी और यहां तक की मैट्रोपोलिटन पुलिस ने मजीद के दावों की जांच की क्योंकि उन्हें मजहर महमूद द्वारा आडियो और वीडियो बातचीत की रिकार्डिंग दी गई थी और उन्होंने पूरी जांच की थी जिसमें उन्होंने खिलाडिय़ों को पाक साफ करार किया था. लंदन में मैट्रोपोलिटन पुलिस ने पिछले साल इंग्लैंड के दौरे के दौरान वहाब से कई घंटों तक पूछताछ की थी. पीसीबी अधिकारी ने यह भी साफ किया कि वह लंदन में चल रही सुनवाई पर करीब से नजर रखे हुए है और उन्होंने अपने कानूनी सलाहकार तफज्जुल रिजवी को अदालत में कार्रवाई देखने के लिए भी भेजा है. उन्होंने साथ ही कहा अगर जरूरत पड़ती है और अगर पीसीबी के लिए इसमें शामिल होना जरूरी होता है तो हम ऐसा करेंगे लेकिन अभी तक हम सिर्फ सुनवाई देख रहे हैं.

Related Posts: