इस्लामाबाद, 5 जून. पाकिस्तान का एक के बाद अपनी परमाणु मिसाइलों के परीक्षण का सिलसिला जारी है. भारत के अग्नि-5 के परीक्षण के बाद पाकिस्तान ने मंगलवार को 700 किलोमीटर दूर तक मार करने वाली हत्फ-7 क्रूज परमाणु मिसाइल का टेस्ट किया.

पाकिस्तानी सेना ने कहा है कि टेस्ट सफल रहा. यह टेस्ट एक अनजान स्थान पर किया गया.
बीते कुछ दिनों में यह पाकिस्तान का पांचवां मिसाइल टेस्ट है. सेना ने एक बयान में कहा इस टेस्ट से पाकिस्तान की रणनीतिक क्षमता को मजबूती मिलेगी और राष्ट्रीय सुरक्षा भी मजबूत होगी. पाकिस्तान की सेना ने कहा कि हत्फ-7 अथवा बाबर स्वदेशी मल्टि-ट्यूब क्रूज मिसाइल प्रणाली है. उसका कहना है कि यह मिसाइल रडार को चकमा देने और परमाणु हथियार ले जाने में काबिल है.

बयान में कहा गया है कि मिसाइल का टेस्ट मल्टि-ट्यूब प्रक्षेपण यान से किया गया, जो हत्फ-7 को पारंपरिक और परमाणु दायरे में लक्ष्य संबंधी क्षमता को लेकर मजबूत बनाएगा. परीक्षण के समय जॉइंट चीफ ऑफ स्टाफ कमिटी के प्रमुख जनरल खालिद शमीम वायने, रणनीतिक योजना विभाग के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल (रिटायर्ड) खालिद अहमद किदवई और अन्य वरिष्ठ अधिकारी एवं वैज्ञानिक मौजूद थे. पाकिस्तान के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने इस सफल टेस्ट के लिए साइंटिस्ट्स एवं इंजिनियरों को मुबारकबाद दी है. बीते 25 अप्रैल को पाकिस्तान ने परमाणु शक्ति संपन्न हत्फ-4 बलिस्टिक मिसाइल का टेस्ट किया था, जिसकी मारक क्षमता एक हजार किलोमीटर बताई गई. यह टेस्ट भारत की ओर से पांच हजार किलोमीटर की मारक क्षमता वाली अग्नि-5 के टेस्ट के छह दिन बाद किया गया था.

पाकिस्तान ने 10 मई को परमाणु शक्ति संपन्न और 290 किलोमीटर तक मार करने में सक्षम हत्फ-3 बलिस्टिक मिसाइल का टेस्ट किया था. 29 मई को 60 किलोमीटर की क्षमता वाली हत्फ-4 मिसाइल का टेस्ट किया गया था. पिछले 31 मई को हत्फ-8 क्रूज मिसाइल का टेस्ट किया गया, जिसकी मारक क्षमता 350 किलोमीटर से अधिक बताई गई थी.

Related Posts: