इसलामाबाद, 7 दिसंबर. पाकिस्तानी सरकार ने भारतीय मूल के स्टील किंग लक्ष्मी मित्तल का निवेश प्रस्ताव ठुकरा दिया है.

मित्तल की आर्सेलर कंपनी ने सिंध प्रांत के थार मरुस्थल में एक कोयला प्रोजेक्ट में निवेश का प्रस्ताव दिया था. सिंध प्रांत के एक सरकारी अधिकारी ने बताया कि मित्तल की कंपनी ने थार कोयला प्रोजेक्ट में निवेश की पेशकश दुबई की एक परामर्श फर्म के माध्यम से की थी. भारत और पाकिस्तान के बीच संवेदनशील संबंधों की वजह से निवेश का प्रस्ताव ठुकरा दिया गया. माना जा रहा है कि यह निवेश दो अरब डॉलर से अधिक का था. अधिकारियों का कहना है कि कंपनी की पेशकश में थार से प्राप्त कोयले का इस्तेमाल वह भारत और अन्य देशों में स्थित इस्पात संयंत्रों में इस्तेमाल की बात कही गई थी. आर्सेलर मित्तल ने पाकिस्तान में कोयल की लागत कम होने की वजह से परियोजना लगाने की पेशकश की थी.

Related Posts: