भोपाल, 6 सितंबर. पर्यूषण पर्व के अंतर्गत सत्य धर्म की आराधना हुई. मंदिरों में अभिषेक पूजा-अर्चना के साथ सत्य धर्म विशेष प्रवचन हुये. कल धूप दशमी के अवसर पर श्रद्घालु शहर के मंदिरों की परिक्रमा कर धूप खायेंगे और शहर के मंदिरों में जैन तीर्थ और पौराणिक कथाओं पर आधारित झांकियों का भव्य और आकर्षक मंचन हो रहा है.

टी.टी. नगर जैन मंदिर में मुनि मार्दव सागर जी महाराज ने कहा कि सत्य प्रतिष्ठिïत है, सत्य परमेश्वर है, सत्य वचन कठ के आभूषण माने गये हैं. जिसके मुख से सदा सत्य निकलता है उन्हें फिर कण्ठ में किसी आभूषण के पहुँचने की आवश्यकता नहीं है जो सत्य के चरणों में पहुँच जाता है उनके चरणों में लक्ष्मी, वैभव और कीर्ति साष्टïांग पड़े रहते है लेकिन जो लक्ष्मी वैभव और कीर्ति के पीछे पड़ा रहता है सत्य उसे बहुत दूर होजाता है.
जिसने अपने जीवन में सत्य को उपलब्ध कर लिया है उससे ब्रम्हा को पा लिया है. उसके जीवन में धर्म अवतरित हो जाता है.

मंदिर जी में प्रात: संगीतकार विजय नारे की संगीतमय स्वर लहरियों के बीच सत्य धर्म की विशेष पूजा अर्चना हुई. रात्रि में त्रिशला महिला मंडल की सुनीता और रश्मी जैन के निर्देश में आकर्षक सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति हो रही है.

हबीबगंज जैन मंदिर में आज श्रद्घालुओं ने दशलक्षण विधान किया और रात्रि में संगीतमय गरबा नृत्य द्वारा महाआरती हुई. मंदिर समिति के अध्यक्ष देवेन्द्र जैन, प्रदीप नौहरकला विशेष रूप में मौजूद थे. नारायण नगर जैन मंदिर में आज मूलनायक भगवान पाश्र्वनाथ का अभिषेक और शांति धारा के साथ सत्य धर्म की विशेष पूजा-अर्चना हुई.

कल धूप दशमी के अवसर पर राजधानी के सभी मंदिरों में विशेष आयोजन हो रहे है. प्रवक्ता अंशुल जैन के अनुसार कल श्रद्घालु सभी मंदिरों में जाकर वंदना करेंगे. शहर के मंदिरों में जैन तीर्थ और पौराणिक जैन कथाओं पर आधारित झांकियों का मंचन किया गया है. इसी तारतम्य में पिपलानी जैन मंदिर में जैन तीर्थ सम्मेद शिखरजी की भव्य और आकर्षक रचना की गई है. निर्माण के योगदान में प्रदीप हरषोला और राजू गोयल की भूमिका उल्लेखनीय है. जैन मंदिर मंगलवारा में चंद्रप्रभु सांस्कृतिक समिति के तत्वावधान में नवग्रह जिनालय की आकर्षक रचना की गई है.

Related Posts: